CAA और कश्मीर पर भारत को मिला ब्राजील का साथ, बताया आंतरिक मुद्दा

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जनवरी 23, 2020   16:45
CAA और कश्मीर पर भारत को मिला ब्राजील का साथ, बताया आंतरिक मुद्दा

ब्राजील के राष्ट्रपति बोलसोनारो शुक्रवार को भारत के चार दिवसीय दौरे पर आएंगे। वह गणतंत्र दिवस समारोह में मुख्य अतिथि होंगे। वार्ता में ऐसे वक्त पर कारोबारी संबंध बढ़ाने के तरीके खोजे जाएंगे जब दोनों बड़ी अर्थव्यवस्थाओं में नरमी के हालात हैं।

नयी दिल्ली। भारत में ब्राजील के राजदूत एंड्रे अरान्हा कोरिया डो लागो ने बृहस्पतिवार को कहा कि संशोधित नागरिकता कानून (सीएए) और कश्मीर में हालात भारत के आतंरिक मुद्दे हैं तथा गतिशील लोकतंत्र वाला देश इन ‘चुनौतियों’का समाधान तलाश लेगा। ब्राजील के राष्ट्रपति जेयर बोलसोनारो पिछले वर्ष जनवरी में सत्ता में आने के बाद भारत के अपने पहले दौरे पर आने वाले हैं। इसके एक दिन पहले ब्राजील के राजदूत ने यह बात कही।

इसे भी पढ़ें: प्रदर्शनकारियों पर फिर बरसे योगी, कहा- कायर लोगों ने महिलाओं और बच्चों को किया आगे

लागो ने साथ एक साक्षात्कार में कहा कि ब्राजील के राष्ट्रपति के दौरे के दौरान 15 से अधिक समझौतों पर हस्ताक्षर होंगे। इनमें से एक निवेश संरक्षण संबंधी समझौता भी होगा। उन्होंने कहा, ‘‘ये (संशोधित नागरिकता कानून और कश्मीर में हालात) भारत के दो आंतरिक मामले हैं जिनमें हमें भी गहरी दिलचस्पी है। भारत सरकार संभवत: चर्चा में इन्हें भी शामिल करेगी लेकिन हम इन्हें स्पष्ट रूप से भारत का आंतरिक विषय मानते हैं।’’ लागो ने आगे कहा, ‘‘प्रतिष्ठित संस्थानों और नागरिक संस्थाओं के साथ भारत का लोकतंत्र गतिशील है, हम जानते हैं कि इस खुले समाज के साथ आप चर्चा करेंगे और इन चुनौतियों के समाधान के साथ आगे बढ़ेंगे।’’ उनसे पूछा गया था कि क्या बातचीत में सीएए और कश्मीर मुद्दे पर चर्चा हो सकती है।

इसे भी पढ़ें: CAA-NRC को लेकर कन्हैया ने साधा निशाना, बौखलाया तड़ीपार, साहेब बेकरार, हर कोने में शाहीन बाग तैयार

ब्राजील के राष्ट्रपति बोलसोनारो शुक्रवार को भारत के चार दिवसीय दौरे पर आएंगे। वह गणतंत्र दिवस समारोह में मुख्य अतिथि होंगे। वार्ता में ऐसे वक्त पर कारोबारी संबंध बढ़ाने के तरीके खोजे जाएंगे जब दोनों बड़ी अर्थव्यवस्थाओं में नरमी के हालात हैं। शनिवार को वह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से अलग-अलग बात करेंगे। बोलसोनारो के साथ सात मंत्री, शीर्ष अधिकारी और एक बड़ा कारोबारी प्रतिनिधिमंडल भी आएगा।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...