भारत सहयोगी प्रणाली के माध्यम से समुद्री चुनौतियों से निपटने के लिए प्रतिबद्ध : केंद्रीय मंत्री

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  फरवरी 27, 2022   07:53
भारत सहयोगी प्रणाली के माध्यम से समुद्री चुनौतियों से निपटने के लिए प्रतिबद्ध : केंद्रीय मंत्री
प्रतिरूप फोटो

पूर्वी नौसेना कमान में बहुपक्षीय नौसेना अभ्यास मिलन-2022 का उद्घाटन करने के बाद मित्र देशों के नौसेना अधिकारियों को संबोधित करते हुए भट ने कहा कि न केवल व्यापार को बढ़ावा देना बल्कि विकास और आपसी सहयोग को बढ़ावा देना भी तटीय राष्ट्रों की विशिष्ट जिम्मेदारी है।

विशाखापत्तनम| रक्षा राज्य मंत्री अजय भट ने शनिवार को यहां कहा कि भारत तटीय देशों में विकास को बढ़ावा देने के लिए एक सहयोगी और विनियमन-आधारित प्रणाली के माध्यम से नौवहन चुनौतियों से निपटने के लिए प्रतिबद्ध है।

पूर्वी नौसेना कमान में बहुपक्षीय नौसेना अभ्यास मिलन-2022 का उद्घाटन करने के बाद मित्र देशों के नौसेना अधिकारियों को संबोधित करते हुए भट ने कहा कि न केवल व्यापार को बढ़ावा देना बल्कि विकास और आपसी सहयोग को बढ़ावा देना भी तटीय राष्ट्रों की विशिष्ट जिम्मेदारी है।

केंद्रीय मंत्री ने कहा, ‘‘मुक्त व्यापार, नौवहन स्वतंत्रता और अंतरराष्ट्रीय समुद्री क्षेत्र में उड़ान की स्वतंत्रता ... भारत हमेशा एक सहयोगी और विनियमन-आधारित प्रणाली के माध्यम से अन्य देशों के साथ खड़ा है।

महासागरों की सुरक्षा के लिए एक मजबूत नींव का निर्माण समय की जरूरत है।’’ उन्होंने कहा कि मिलन समुद्री देशों के बीच आपसी संबंधों को मजबूत करने में मदद करेगा।

भट ने कहा कि भारत विभिन्न समुद्री चुनौतियों से निपटने और हिंद महासागर क्षेत्र में समुद्री सुरक्षा को मजबूत करने के लिए भी प्रतिबद्ध है। समारोह को नौसेना प्रमुख एडमिरल आर हरि कुमार ने भी संबोधित किया।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...