देश को 2030 तक ड्रोन प्रौद्योगिकी केंद्र बनाने का लक्ष्य : नागर विमानन मंत्री

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  सितंबर 12, 2021   05:25
देश को 2030 तक ड्रोन प्रौद्योगिकी केंद्र बनाने का लक्ष्य : नागर विमानन मंत्री
प्रतिरूप फोटो

नागर विमानन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने शनिवार को कहा, ‘‘भारत इस क्रांति में अग्रणी बनने जा रहा है। हमारा लक्ष्य भारत को 2030 तक ड्रोन प्रौद्योगिकी का वैश्विक केंद्र बनाना है। ’’

नागर विमानन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने शनिवार को कहा कि सरकार का लक्ष्य देश को 2030 तक ड्रोन प्रौद्योगिकी का वैश्विक केंद्र बनाना है। उन्होंने कहा, ‘‘भारत इस क्रांति में अग्रणी बनने जा रहा है। हमारा लक्ष्य भारत को 2030 तक ड्रोन प्रौद्योगिकी का वैश्विक केंद्र बनाना है। ’’

उन्होंने यहां संवाददाता सम्मेलन में कहा, ‘‘ऐसा तीन कारणों से काफी संभव है। एक, हमारी इंजीनीयरिंग प्रतिभा। दूसरा, सूचना प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में हमारी मजबूती।तीसरा, हमारी युवा आबादी। भारत की 70 प्रतिशत आबादी 35 साल से कम आयु की है। ’’

इससे पहले, उन्होंने यहां विकारबाद के पास ‘मेडिसींस फ्रॉम द स्काई’ परियोजना की शुरूआत की, जिसके तहत ड्रोन के जरिए दवाइयां और टीके पहुंचाए जाएंगे।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।