हरियाणा में भारतीय रेलवे माल गोदाम श्रमिकों का भी होगा ई-श्रम पोर्टल पर पंजीकरण: मुख्यमंत्री

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  दिसंबर 7, 2021   16:59
हरियाणा में भारतीय रेलवे माल गोदाम श्रमिकों का भी होगा ई-श्रम पोर्टल पर पंजीकरण: मुख्यमंत्री

मुख्यमंत्री ने कहा कि श्रमिक समाज का असली निर्माता है। इस संसार की उत्पत्ति में श्रमिक का पसीना लगा हुआ है। 19वीं शताब्दी में जब औद्योगिक क्रांति आई तो उद्योगों के विकास में रेलवे का महत्वपूर्ण योगदान रहा। देश की तरक्की उद्योगों से, उद्योगों की तरक्की रेलवे और रेलवे की तरक्की श्रमिकों से हुई। देश की तरक्की श्रमिकों पर निर्भर है।

पंचकूला । मुख्यमंत्री  मनोहर लाल ने कहा कि प्रदेश में किसानों के साथ-साथ श्रमिकों की आय को भी दोगुनी करने की दिशा में कार्य किया जा रहा है। इसके लिए हरियाणा में असंगठित मजदूरों का पंजीकरण जारी है, आज से हरियाणा में कार्यरत भारतीय रेलवे माल गोदाम श्रमिकों का पंजीकरण भी होगा। इसके बाद इन्हें भी केंद्र व राज्य सरकार से जुड़ी योजनाओं का लाभ मिल सकेगा। मुख्यमंत्री आज पंचकूला में भारतीय रेलवे माल गोदाम श्रमिक संघ द्वारा आयोजित हरियाणा राज्य श्रमिक पंजीकरण उद्घाटन समारोह को संबोधित कर रहे थे। इस दौरान हरियाणा विधानसभा अध्यक्ष   ज्ञानचंद गुप्ता व बिजली मंत्री श्री रणजीत सिंह मौजूद रहे।

 

मुख्यमंत्री ने कहा कि श्रमिक समाज का असली निर्माता है। इस संसार की उत्पत्ति में श्रमिक का पसीना लगा हुआ है। 19वीं शताब्दी में जब औद्योगिक क्रांति आई तो उद्योगों के विकास में रेलवे का महत्वपूर्ण योगदान रहा। देश की तरक्की उद्योगों से, उद्योगों की तरक्की रेलवे और रेलवे की तरक्की श्रमिकों से हुई। देश की तरक्की श्रमिकों पर निर्भर है। मुख्यमंत्री  मनोहर लाल ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में समाज के सभी वर्गों का ध्यान रखा जा रहा है लेकिन गरीब व श्रमिकों का भला कैसे हो इस पर उनका विशेष ध्यान है। उन्होंने कहा कि सरकारी संसाधनों पर श्रमिकों का पहला हक है। हरियाणा सरकार कंस्ट्रक्शन, प्रवासी मजदूरों, दुकानदारों, मछुआरे व अन्य सभी असंगठित श्रमिकों का पंजीकरण कर रही है। इनका पंजीकरण पूर्ण हो जाने पर इनके लिए स्वास्थ्य, बच्चों की पढ़ाई, रोजगार, मकान व सामाजिक सुरक्षा पेंशन जैसी 22 योजनाएं  क्रियान्वित की जा रही हैं।

मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने श्रमेव जयते योजना शुरू करने पर प्रधानमंत्री का आभार जताया। उन्होंने कहा कि श्रम ही जीवन है। ईमानदारी व सच्चाई से काम करने वाले की जीत होती है और श्रम से ही समाज आगे बढ़ता है। गरीबों का उत्थान कैसे हो इसके लिए मुख्यमंत्री अंत्योदय परिवार उत्थान योजना शुरू की है। अभी तक साढ़े 3 लाख परिवारों का डाटा मिला है, जिनकी आय 1 लाख रुपये से कम है। ऐसे परिवारों तक सरकार के 18 विभागों की 40 से ज्यादा योजनाओं का लाभ पहुंचाने के लिए अंत्योदय ग्रामोदय मेले लगाए जा रहे हैं। इन मेलों में उनकी इच्छा अनुसार स्वरोजगार हेतु बैंकों से ऋण, योग्यतानुसार प्राइवेट नौकरियां दिलाने का कार्य किया जा रहा है। इस योजना का दूसरे प्रांत भी अब अध्ययन कर रहे हैं।

 

मुख्यमंत्री ने कहा कि हरियाणा सरकार बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ अभियान के लिए लगातार कार्य कर रही है। हरियाणा में लड़कियों के लिंगानुपात में काफी सुधार हुआ है। पहले 1 हजार लड़कों पर 853 लड़कियां थी लेकिन अब 913 लड़कियां हो गई हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि इस आंकड़े को 950 तक लेकर जाना उनकी सरकार का लक्ष्य है। 

हरियाणा विधानसभा अध्यक्ष श्री ज्ञानचंद गुप्ता ने कहा कि प्रदेश सरकार अंत्योदय के भाव से काम कर रही है। जब तक श्रमिक और गरीब व्यक्ति का भला नहीं होगा, तब तक देश आगे नहीं बढ़ सकता। कोरोना काल में श्रमिकों ने रेलगाड़ियों में अन्न व दूसरी आवश्यक चीजों की आपूर्ति में कमी नहीं आने दी। श्रमिकों ने जान को हथेली पर रखकर देश की अखंडता को मजबूत किया। वहीं बिजली मंत्री श्री रणजीत सिंह ने कहा कि माल गोदाम श्रमिक मेहनत का काम करते हैं। देश को ऊंचाई तक ले जाने में इन श्रमिकों का महत्वपूर्ण योगदान है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...