पेट्रोल डीजल पर प्रतीकात्मक 5-10 रुपए कम करने से महंगाई कम नहीं होने वाली : गहलोत

Ashok Gehlot
प्रतिरूप फोटो
राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने रविवार को ‘‘अन्य प्रदेशों की सरकारों ने अलग-अलग वैट कम किए हैं, अब राज्यों की बीच कीमतों में असंतुलन हो गया है। हमारे पड़ोसी राज्यों में और हमारे में बहुत बड़ा फर्क हो गया है।’’ मुख्यमंत्री ने कहा कि पेट्रोल/डीजल का वैट कम करने के लिये उन्होंने प्रधानमंत्रीऔर गृहमंत्री को पत्र लिख कर आग्रह किया है।

जयपुर|  राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने रविवार को केन्द्र सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि पेट्रोल/डीजल पर प्रतीकात्मक 5-10 रुपए कम करने से महंगाई कम नहीं होने वाली है।

उन्होंने कहा, ‘‘केन्द्र सरकार ने पेट्रोल/डीजल पर 5 रुपए, 10 रुपए सिम्बॉलिक (प्रतीकात्मक) कम कर दिए, उससे महंगाई कम नहीं होने वाली है।’’ उन्होंने कहा, ‘‘हमारी मांग है कि आप (केन्द्र सरकार) देश से वादा करें कि भविष्य में इस प्रकार से मूल्य नहीं बढ़ाएंगे, तब जाकर महंगाई कम होना प्रारंभ होगा।’’

इसे भी पढ़ें: हिमाचल प्रदेश, जम्मू-कश्मीर और नगालैंड ने पेट्रोल-डीजल पर वैट में कटौती की

गहलोत ने कटाक्ष किया, ‘‘पेट्रोल-डीजल के दाम जो बढ़े हैं, उसमें भी केंद्र सरकार की नीति बहुत खराब रही है, रोज दाम बढ़ाते गए, बढ़ाते गए, बढ़ाते गए, 25 रुपए, 30 रुपए बढ़ा दिए और अचानक 5 रुपए कम कर दिए, 10 रुपए कम कर दिए।’’

उन्होंने कहा कि लोग जानते हैं कि पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव खत्म होने के बाद पेट्रोल डीजल की कीमतें फिर से बढने लगेंगी। राजस्थान में पेट्रोल/डीजल पर वैट कम करने के बारे में गहलोत ने कहा कि परसों होने वाले राज्य मंत्रिपरिषद की बैठक में इस पर निर्णय किया जायेगा।

उन्होंने कहा, ‘‘राज्य में पेट्रोल/डीजल पर वेट कम करने के लिये परसों हम मंत्रिमंडल की बैठक बुला रहे हैं, मंत्रिमंडल में और मंत्रिपरिषद की बैठक में हम विचार-विमर्श करेंगे, जो भी संभव होगा, हम फैसला करेंगे।’’

उन्होंने कहा, ‘‘अन्य प्रदेशों की सरकारों ने अलग-अलग वैट कम किए हैं, अब राज्यों की बीच कीमतों में असंतुलन हो गया है। हमारे पड़ोसी राज्यों में और हमारे में बहुत बड़ा फर्क हो गया है।’’ मुख्यमंत्री ने कहा कि पेट्रोल/डीजल का वैट कम करने के लिये उन्होंने प्रधानमंत्रीऔर गृहमंत्री को पत्र लिख कर आग्रह किया है।

उन्होंने कहा, ‘‘केन्द्र अपना शुल्क कम करे, हमारी कीमत अपने-आप कम हो जाएगी। इससे देश में कीमतों में एकरूपता रहेगी, वरना राज्य सरकारें अलग-अलग प्रतिस्पर्धा कर रही हैं। कोई 2 रुपए कम कर रही है, तो कोई पांच और सात रुपये।’’

गहलोत ने कहा, ‘‘हमारी मांग है कि आप देश से वादा करो हम भविष्य में इस प्रकार से कीमत नहीं बढ़ाएंगे, तब जाकर महंगाई कम होना शुरू होगा। महंगाई का इश्यू (मुद्दा) बहुत बड़ा इश्यू है देश के अंदर, हर घर प्रभावित है, मध्यम वर्ग का हो, गरीब हो, जीना दूभर हो गया है, महिलाएं बहुत दुःखी हैं, रसोई चलाना मुश्किल हो गया है।’’

इसे भी पढ़ें: सीतारमण ने परिवहन, पेट्रोलियम, इस्पात मंत्रालयों के पूंजी व्यय की समीक्षा की

गहलोत रविवार को प्रदेश कांग्रेस कार्यालय में पूर्व प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू के जन्म दिवस पर आयोजित कार्यक्रम में भाग लेने पहुंचे थे।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़