सद्दाम हुसैन से प्रेरित होकर दिल्ली के कारोबारी ने ससुरालवालों को थैलियम खिलाकर सुलाया मौत की नींद

Saddam Hussein
रेनू तिवारी । Mar 25, 2021 2:42PM
दिल्ली में एक 37 वर्षीय रियल एस्टेट कारोबारी वरुण अरोड़ा ने अपनी पत्नी और ससुराल वालों को निशाना बनाने के लिए कथित तौर पर थैलियम का इस्तेमाल किया। मंगलवार रात पुलिस ने ग्रेटर कैलाश निवासी वरुण अरोड़ा को सास की हत्या करने के आरोप में गिरफ्तार किया।

बॉलीवुड की कई ऐसी फिल्म है जो क्राइम ड्रामे पर बनीं है। ऐसी फिल्मों में हमने देखा है क्लाइमेक्स में पता चलता है खूनी कौन है! खूनी वहीं होता हैं जो बार बार नजरों के सामने आता है लेकिन किसी को उसपर शक नहीं होता। ऐसी फिल्मों को थ्रिलर देखने वाले काफी ज्यादा पसंद करते हैं। ऐसी कहानियां देखने में मजा भी आता हैं क्यों वह सच नहीं होती केवल पर्दें पर होती हैं। आज जो हम आपको बताने जा रहे हैं वो दिल्ली के ग्रेटर कैलाश में हुआ एक ऐसा अपराध है जिसे सुन कर आपको लगेगा की ये कोई फिल्म है। 

इसे भी पढ़ें: मनी लॉन्ड्रिंग मामले को लेकर ईडी के सामने पेश हुईं महबूबा मुफ्ती  

दिल्ली के ग्रेटर कैलाश में दमाद ने की सास की हत्या!

इराक के पूर्व राष्ट्रपति सद्दाम हुसैन और उनकी खुफिया एजेंसियों से प्रेरित होकर, जिन्होंने कथित तौर पर शासन के राजनीतिक विरोधियों को मारने के लिए थैलियम का इस्तेमाल किया था, दिल्ली में एक 37 वर्षीय रियल एस्टेट कारोबारी वरुण अरोड़ा ने अपनी पत्नी और ससुराल वालों को निशाना बनाने के लिए कथित तौर पर थैलियम का इस्तेमाल किया। मंगलवार रात पुलिस ने ग्रेटर कैलाश निवासी वरुण अरोड़ा को सास की हत्या करने के आरोप में गिरफ्तार किया। उनकी पत्नी फरवरी से कोमा में हैं, और उनकी भाभी की उसी समय के आसपास मौत हो गई। यह घटना 21 मार्च को सामने आई जब होमियोपैथी दवाओं को बनाने वाले 62 वर्षीय देवेंद्र मोहन शर्मा ने पुलिस से संपर्क किया और कहा कि उनकी पत्नी अनीता शर्मा की गंगा राम अस्पताल में मौत हो गई थी और उन्हें अपने दामाद  वरुण अरोड़ा पर शक है। देवेंद्र मोहन शर्मा ने पुलिस से संपर्क किया और कहा और आरोप लगाया कि जनवरी में, अरोड़ा ने थैलियम के साथ मछली पकाई और इसे अपने परिवार के सदस्यों को परोसा। 

इसे भी पढ़ें: राष्ट्रपति से मिले रामदास अठावले, महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन की मांग की  

सद्दाम हुसैन से प्रेरित होकर रची ससुरालवालों की हत्या की साजिश

इराक के पूर्व राष्ट्रपति सद्दाम हुसैन को लेकर एक किताब में खुलासा किया गया था कि  सद्दाम हुसैन अपने पॉलिटिक्स से जुड़े दुश्मनों को खत्म करने के लिए थैलियम का इस्तेमाल करते थे। जिससे धीरे-धीरे करके सामने वाले की मौत हो जाती थी। सद्दाम हुसैन की थैलियम से हत्या करने वाली थ्यौरी को वरुण अरोड़ा ने अपनाया और बिना किसी हथियार का सहारा लिए उसने अपने ससुराल में सास, भाभी और अपनी पत्नी को मारने की प्लानिंग की। वरुण अरोड़ा ने एक दिन अपने ससुराल वालों के लिए मछली बनाई और अपने ससुराल वालों को खिलाई। इस मछली वाले भोजन में उनसे थैलियम मिलाया। वरुण ने जो खाना बनाया उसे खुद नहीं खाया और अपने बच्चों को भी खाने नहीं दिया। ससुराल वालों ने ही वो खाना खाया था। इस भोजन के कुछ समय बाद ही सास अनीता शर्मा की मौत हो गयी थी। 

 

ससुर को हुआ दमाद पर शक 

एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने कहा, वरुण अरोड़ा के ससुर ने इस बात की जानकारी दी थी कि उनके दमाद ने मछली बनाई थी जिसे खाने के बाद से ही परिवार के लोगों की हालट ठीक नहीं थी।  उन्होंने इसे खुद नहीं खाया और अपने जुड़वां बच्चों को भी नहीं खिलाया। पुलिस अधिकारियों ने दिल्ली पुलिस मुख्यालय में अपने वरिष्ठों के साथ इस विषय पर चर्चा की, जिसके बाद उन्होंने शर्मा के मेडिकल परीक्षण की व्यवस्था की। जांचकर्ताओं को तब झटका लगा जब उन्हें शर्मा के खून में थैलियम का स्तर बढ़ा हुआ मिला। एक अधिकारी ने कहा कि उन्होंने अपनी पत्नी अनीता शर्मा के शव का पोस्टमार्टम और फॉरेंसिक जांच कराई। सूत्रों ने कहा कि फोरेंसिक विशेषज्ञों ने जांचकर्ताओं को सूचित किया कि अनीता में उच्च थैलियम का स्तर भी था। पुलिस ने इसके बाद इंदर पुरी पुलिस स्टेशन में आईपीसी की धारा 302 (हत्या) के तहत प्राथमिकी दर्ज की।

एक पुलिस सूत्र ने कहा, "पुलिस ने शर्मा की बड़ी बेटी (अरोड़ा की पत्नी, जो कोमा में  है) का मेडिकल परीक्षण कराया और उसके मामले में भी थैलियम का स्तर अधिक था," पुलिस के एक सूत्र ने कहा कि जब अरोड़ा को पूछताछ के लिए बुलाया गया था, तो उन्होंने  कुछ भी कबूल नहीं किया। मंगलवार शाम पुलिस ने उसके घर पर छापा मारा और उसका लैपटॉप बरामद किया। डिवाइस को स्कैन करने पर, पुलिस ने कहा कि उन्हें अरोड़ा की सर्च लिस्म में थैलियम से संबंधित वेब पेज मिले और सद्दाम हुसैन से जुड़ी कई कहानियां मिली। 

 

ऑनलाइन मगवाया था थैलियम 

 वरुण अरोड़ा ने ऑनलाइन फार्मासिस्ट के माध्यम से थैलियम का ऑडर किया था। उन्होंने केमिस्ट से यह दावा किया था कि उनके ससुर कोरोना वायरस से संबंधित एक होम्योपैथी दवा बनाने के कोशिश कर रहे हैं। जांच के दौरान केमिस्ट से पता किया कि आखिर थैलियम का ऑडर किसने किया था? उसमें यह साफ हो गया कि थैलियम  का ऑडर अरोड़ा ने ही किया था और डिलिवरी बॉय ने कहा कि य पैकेट रिसीव भी अरोड़ा ने ही किया था। 

 

क्यों किया ये खौफनाक अपराध?

कथित जहर देने के मकसद पर, पुलिस ने कहा कि जब अरोड़ा ने दूसरी बार पूछताछ की, तो उसने कहा कि वह अपनी पत्नी और ससुराल वालों से लगभग छह साल पहले हुई एक घटना का बदला लेना चाहता था। वरुण अरोड़ा ने अपने कबूल नामे में कहा कि कुछ समय पहले उनके पिता की मौत हो गयी थी। पिता की मौत के तुरंत बाद अरोड़ा की पत्नी प्रेग्नेंट हो गयी थी। घर में सबको लगा कि यह पिता जी ही है जो वरुण के बच्चे के रुप में एक बार फिर घर में जन्म लेने जा रहे हैं लेकिन मेरी पत्नी की डिलिवरी में कुछ समस्या थी जिसकी वजह से गर्भपात करवाना पड़ा। अरोड़ा गर्भपात के खिलाफ थे, लेकिन उनकी पत्नी और मयके वालों ने गर्भपात करवा दिया। अरोड़ा और उनकी पत्नी को बाद में आईवीएफ के माध्यम से दो बच्चे हुए। इस वजह से उनके परिवार के सदस्यों ने उन्हें ताना मारा। उसने फिर बदला लेने का फैसला किया और घटना को अंदाम दिया।

 

नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़