विमान में बम की धमकी भरा पत्र रखने वाला जौहरी कड़े कानून के तहत गिरफ्तार

Jet jets in hijackers Bomb threatened letter one arrested
जेट एयरवेज की मुंबई-दिल्ली उड़ान के शौचालय में विमान अपहर्ताओं और बम होने के बारे में पत्र रखने के आरोप में आज एक जौहरी को सख्त विमान अपहरण रोधी कानून के तहत गिरफ्तार कर लिया गया।

अहमदाबाद। जेट एयरवेज की मुंबई-दिल्ली उड़ान के शौचालय में विमान अपहर्ताओं और बम होने के बारे में पत्र रखने के आरोप में आज एक जौहरी को सख्त विमान अपहरण रोधी कानून के तहत गिरफ्तार कर लिया गया। पुलिस ने कहा कि इस साल जुलाई में अमल में आए इस कानून के तहत यह पहली गिरफ्तारी है। इस कानून के मुताबिक, आरोपी को अधिकतम उम्र कैद की सजा हो सकती है और उसकी संपत्ति को जब्त किया जा सकता है। इस अधिनियम ने 1982 के पुराने कानून का स्थान लिया है।

संयुक्त पुलिस आयुक्त (अपराध) जे के भट्ट ने यहां संवाददाताओं से कहा, ‘‘हमने उसे विमान अपहरण रोधी कानून की धाराओं के तहत गिरफ्तार किया है। इसके अमल में आने के बाद इस कानून के तहत यह पहली गिरफ्तारी है।’’ उन्होंने कहा, ‘‘ हम राष्ट्रीय जांच एजेंसी के संपर्क में है। अगर केंद्र चाहता है तो मामले को एनआईए को सौंपा जा सकता है।’’ पुलिस अधिकारी ने कहा, ‘‘ सल्ला करोड़पति जौहरी है। उसका मुंबई के पॉश इलाके में एक फ्लैट है। वह मूल रूप से अमरेली जिले के देदन गांव का रहने वाला है।’’ भट्ट ने कहा, ‘‘ आरोपी ने जेट एयरवेज को बंद करने की मंशा से पत्र को रखा था ताकि कंपनी के दिल्ली स्थित दफ्तर में काम करने वाली उसकी प्रेमिका नौकरी छोड़ उसके साथ मुंबई में रहने लगे।’’

भट्ट ने कहा कि आरोपी ने इससे पहले जेट एयरवेज द्वारा परोसे गए खाने में काकरोच मिलने की शिकायत की थी। भट्ट ने कहा, ‘‘ हम जांच कर रहे हैं कि क्या उसका संबंध किसी अन्य असामाजिक समूह से संपर्क था। हमें उसके खिलाफ कोई अन्य अपराध नहीं मिला।’’ मुंबई-दिल्ली जेट एयरवेज की उड़ान के शौचालय में कल एक पत्र मिला था जिसमें कहा गया था कि विमान में अपहरणकर्ता हैं और बम रखा हुआ है। इसके बाद विमान को आपात स्थिति में उतारना पड़ा था। विमान में 115 यात्री और चालक दल के सात सदस्य सवार थे। बोइंग 737-900 विमान को दूर खड़ा किया गया था और सभी 122 लोगों को विमान से सुरक्षित निकाल लिया गया था।

अधिकारियों ने पहले कहा था कि कथित तौर पर सल्ला द्वारा रखे गए पत्र में कहा गया था कि कारगो क्षेत्र में अपहरणकर्ता हैं और बम रखा हुआ है। पत्र उर्दू और अंग्रेजी में था और विमान को पीओके (पाकिस्तान के कब्जे वाला कश्मीर) ले जाने के लिए कहा गया था। अंतिम में ‘अल्लाह महान है’’ शब्द लिखे थे। पहले एक अधिकारी ने कहा था कि पीओके के जिक्र पर जांचकर्ताओं को शक हुआ क्योंकि पाकिस्तानी आतंकवादी इस क्षेत्र को ‘आजाद कश्मीर’ बोलते हैं।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़