कर्नाटक के मंत्री ने कुमारस्वामी से पूछा, पाक से प्यार? आपको भारत में क्यों रहना चाहिए?

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जनवरी 24, 2020   19:07
कर्नाटक के मंत्री ने कुमारस्वामी से पूछा, पाक से प्यार? आपको भारत में क्यों रहना चाहिए?

कुमारस्वामी पर वोट बैंक की राजनीति करने का आरोप लगाते हुए श्रीरामुलु ने कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री के पुत्र और पूर्व मुख्यमंत्री होने के बावजूद इस तरह के बयान देकर आपने भारत के लोगों को दुख पहुंचाया है। उन्होंने कहा कि अगर आप वोटबैंक या तुष्टिकरण की राजनीति करते रहना चाहते हैं तो यह देश छोड़ दीजिए।

बेंगलुरु। कर्नाटक के स्वास्थ्य मंत्री बी श्रीरामुलु ने शुक्रवार को पूर्व मुख्यमंत्री एच डी कुमारस्वामी पर पाकिस्तान को पसंद करने का आरोप लगाते हुए कहा कि उन्हें उसी देश चले जाना चाहिए। जिला मुख्यालय चित्रदुर्ग में संवाददाताओं से बात करते हुए भाजपा नेता ने कहा कि किसी को भारत और पाकिस्तान दोनों में समान रूप से पसंद किये जाने की मंशा से “दोहरे मानदंड वाली राजनीति” में शामिल नहीं होना चाहिए। 

इसे भी पढ़ें: कर्नाटक नागरिकता संशोधन कानून शत प्रतिशत लागू करेगा: येदियुरप्पा

उन्होंने कहा, “कुमारस्वामी गंभीर राजनेता नहीं हैं, हाल में उन्होंने पाकिस्तान को पसंद करना शुरू किया है...उन्हें यह देश छोड़ने दीजिए, जब वह पाकिस्तान के लिये प्रेम की बात करते हैं, उन्हें भारत में क्यों रहना चाहिए, मैं पूर्व मुख्यमंत्री को बताना चाहता हूं कि इस देश को छोड़ दें।” मंत्री हाल ही में जद(एस) नेता की तरफ से आई उस टिप्पणी पर प्रतिक्रिया दे रहे थे जिसमें उन्होंने भाजपा नेताओं और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की पाकिस्तान के प्रति “सनक” को लेकर सवाल उठाए थे।

इसे भी पढ़ें: कर्नाटक में 2019 में फिर खिला भाजपा का कमल

कुमारस्वामी पर वोट बैंक की राजनीति करने का आरोप लगाते हुए श्रीरामुलु ने कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री के पुत्र और पूर्व मुख्यमंत्री होने के बावजूद इस तरह के बयान देकर आपने भारत के लोगों को दुख पहुंचाया है। उन्होंने कहा, “अगर आप वोटबैंक या तुष्टिकरण की राजनीति करते रहना चाहते हैं तो यह देश छोड़ दीजिए।” 





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...