महाराष्ट्र के गृहमंत्री ने CBI से पूछा, सुशांत सिंह राजपूत की मौत खुदकुशी थी या हत्या

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  दिसंबर 27, 2020   16:25
महाराष्ट्र के गृहमंत्री ने CBI से पूछा, सुशांत सिंह राजपूत की मौत खुदकुशी थी या हत्या

अनिल देखमुख ने यहां संवाददाता सम्मेलन में कहा, “सुशांत सिंह राजपूत की मौत के मामले में महाराष्ट्र और देश के लोग सीबीआई की रिपोर्ट का बेसब्री से इंतजार कर रहे हैं। लोग मुझसे मामले की स्थिति के बारे में पूछते हैं।

नागपुर। महाराष्ट्र के गृह मंत्री अनिल देशमुख ने रविवार को केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो (सीबीआई) से आग्रह किया कि वह बताए कि अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत खुदकुशी के कारण हुई थी या उनकी हत्या की गई थी। देशमुख ने कहा कि सीबीआई को जल्द से जल्द मामले में जांच रिपोर्ट को सामने लाना चाहिए। देखमुख ने यहां संवाददाता सम्मेलन में कहा, “सुशांत सिंह राजपूत की मौत के मामले में महाराष्ट्र और देश के लोग सीबीआई की रिपोर्ट का बेसब्री से इंतजार कर रहे हैं। लोग मुझसे मामले की स्थिति के बारे में पूछते हैं ... मैं सीबीआई से यह प्रकट करने का अनुरोध करता हूं कि वह बताएं कि यह (अभिनेता की मौत) आत्महत्या थी या हत्या।“ उन्होंने कहा, “सीबीआई को मामला सौंपें पांच से छह महीने बीत चुके हैं। 

इसे भी पढ़ें: महाराष्ट्र से किसानों का एक समूह दिल्ली की सीमा पर पहुंचकर प्रदर्शन में हुआ शामिल

लिहाजा, एजेंसी को जल्द से जल्द अपनी रिपोर्ट सार्वजनिक करनी चाहिए ताकि साफ हो सके कि यह आत्महत्या थी या हत्या। राजपूत इस साल 14 जून को अपने मुंबई के बांद्रा स्थित फ्लैट में मृत मिले थे। इससे पहले, मुंबई पुलिस ने दुघर्टनावश मौत की रिपोर्ट दर्ज की थी और वे मामले की जांच कर रहे थे। राजपूत के पिता ने अभिनेता को खुदखुशी के लिए उकसाने के लिए पटना में प्राथमिकी दर्ज कराई थी, जिसे उच्चतम न्यायालय ने 19 अगस्त को सीबीआई को सौंपने को सही ठहराया था। अभिनेता के पिता ने प्राथमिकी में अभिनेता की प्रेमिका रिया चक्रवर्ती और अन्य पर राजपूत को खुदकुशी के लिए उकसाने का आरोप लगाया था। अक्टूबर में नई दिल्ली के अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) के एक मेडिकल बोर्ड ने राजपूत की मौत का कारण हत्या नहीं बताया था बल्कि इसे आत्महत्या बताया था।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।