• छठ पूजा पर पाबंदी को लेकर केजरीवाल के आवास के बाहर प्रदर्शन में मनोज तिवारी घायल

पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि पानी की बौछारों का उपयोग बैरीकेड पार करने की कोशिश कर रहे प्रदर्शनकारियों को तितर-बितर करने के लिए किया गया। इसी दौरान तिवारी बैरीकेड से गिर पड़े लेकिन उन्हें कोई गंभीर चोट नहीं आयी और उन्हें अस्पताल से छुट्टी मिल गयी है।

नयी दिल्ली| सार्वजनिक स्थानों पर छठ पूजा के आयोजन पर प्रतिबंध के खिलाफ मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के आवास के बाहर मंगलवार को प्रदर्शन के दौरान पुलिस द्वारा की गई पानी की बौछार की चपेट में आकर भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के सांसद मनोज तिवारी घायल हो गए।

भाजपा नेताओं ने बताया कि तिवारी (50) को सफदरजंग अस्पताल ले जाया गया था और सभी रिपोर्ट सामान्य आने के बाद सांसद को अस्पताल से छुट्टी दे दी गई। भाजपा की दिल्ली इकाई के एक नेता ने कहा, ‘‘प्रदर्शनकारियों के साथ मिलकर तिवारी ने पुलिस बैरीकेड पार किया और प्रदर्शन मार्च के लिए आगे बढ़ने लगे, इसी दौरान पानी की बौछार से उनके सीने और गर्दन पर चोट लगी। वह अन्य लोगों के साथ सड़क पर गिर पड़े जिससे उन्हें चोट आयी।’’

इसे भी पढ़ें: दिल्ली सरकार ने रामलीला, दशहरा के लिए रात 12 बजे तक लाउडस्पीकर की अनुमति दी

भाजपा नेता नीलकांत बक्शी ने कहा कि सफदरजंग अस्पताल के डॉक्टरों ने तिवारी की जांच की और इलाज किया तथा सभी रिपोर्ट सामान्य आने के बाद उन्हें छुट्टी दे दी गई। पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि पानी की बौछारों का उपयोग बैरीकेड पार करने की कोशिश कर रहे प्रदर्शनकारियों को तितर-बितर करने के लिए किया गया। इसी दौरान तिवारी बैरीकेड से गिर पड़े लेकिन उन्हें कोई गंभीर चोट नहीं आयी और उन्हें अस्पताल से छुट्टी मिल गयी है।

मुख्यमंत्री केजरीवाल ने कहा था कि सार्वजनिक स्थानों पर छठ पूजा पर प्रतिबंध लगाने का फैसला कोरोना वायरस संक्रमण महामारी के मद्देनजर लिया गया है। लेकिन, भाजपा की दिल्ली इकाई के अध्यक्ष आदर्श गुप्ता ने प्रदर्शन के दौरान कहा कि भाजपा नीत नगर निगम छठ पूजा के आयोजन की व्यवस्था करेंगे।

गुप्ता ने कहा, ‘‘केजरीवाल नेतृत्व वाली सरकार संभवत: छठ पूजा की तैयारियां ना करे, लेकिन भाजपा शासित नगर निगम इसकी समुचित व्यवस्था करेंगे।’’ भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष ने दिल्ली सरकार के फैसले को ‘‘तुगलकी फरमान’’ बताया और कहा कि उनकी पार्टी इसका विरोध करती है क्योंकि यह पूर्वांचलवासियों की धार्मिक आस्था पर हमला है।

पार्टी द्वारा जारी बयान के अनुसार, तिवारी के अलावा भाजपा की दिल्ली इकाई के महासचिव दिनेश प्रताप सिंह, पूर्वांचल मोर्चा के अध्यक्ष कौशल मिश्रा, बी. एन. मिश्रा, प्रभाष चन्द्र और निवेदिता तिवारी को भी चोट आयी है।

बयान के अनुसार, शैलेन्द्र सिंह के सिर में चोट आयी है। चोट लगने से पहले तिवारी ने छठ पूजा उत्सव पर प्रतिबंध लगाने को लेकर केजरीवाल नीत सरकार की आलोचना की और स्विमिंग पूल, मॉल, साप्ताहिक बाजार और सार्वजनिक परिवहन सब कुछ चालू होने के बावजूद प्रतिबंध को गलत बताया। तिवारी प्रतिबंध पर लोगों की राय जानने के लिए उन इलाकों में ‘छठ रथ यात्रा’ निकाल रहे हैं जहां पूर्वांचल के लोगों की अच्छी खासी आबादी है।

इसे भी पढ़ें: कांग्रेस ने उठाया कोयले की कमी का मुद्दा, कहा अब बिजली की दरें बढ़ायी जा सकती हैं