राष्ट्रपति का अभिभाषण जमीनी हकीकत से दूर, आर्थिक सर्वेक्षण रिपोर्ट निराश करने वाली: मायावती

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जनवरी 31, 2020   15:02
राष्ट्रपति का अभिभाषण जमीनी हकीकत से दूर, आर्थिक सर्वेक्षण रिपोर्ट निराश करने वाली: मायावती

बसपा प्रमुख मायावती ने राष्ट्रपति के अभिभाषण को जमीनी हकीकत से दूर बताते हुये दोनों सदनों में पेश किये गये आर्थिक सर्वेक्षण को भी निराश करने वाला बताया है। संसद के दोनों सदनों की संयुक्त बैठक के दौरान राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने अभिभाषण में सरकार की उपलब्धियों का जिक्र किया।

नयी दिल्ली। बसपा की अध्यक्ष मायावती ने शुक्रवार को शुरु हुये संसद के बजट सत्र के दौरान दोनों सदनों की संयुक्त बैठक में राष्ट्रपति के अभिभाषण को जमीनी हकीकत से दूर बताते हुये दोनों सदनों में पेश किये गये आर्थिक सर्वेक्षण को भी निराश करने वाला बताया है। मायावती ने राष्ट्रपति के अभिभाषण पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुये ट्वीट कर कहा, ‘‘जैसा कि यह विदित है कि मा. राष्ट्रपति जी का अभिभाषण सरकारी लेखा-जोखा होता है और आज संयुक्त बैठक में इनके अभिभाषण में देश व जनहित को लेकर जो भी बातें कही गयी हैं वे हवा-हवाई ज्यादा हैं तथा जमीनी हकीकत में बहुत कम हैं। यह किसी से छिपा नहीं है।’’ 

इसे भी पढ़ें: विरोध प्रदर्शनों के दौरान हिंसा से लोकतंत्र कमजोर होता है : राष्ट्रपति कोविंद

संसद के दोनों सदनों की संयुक्त बैठक के दौरान राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने अभिभाषण में सरकार की उपलब्धियों का जिक्र किया। राष्ट्रपति के अभिभाषण के बाद दोनों सदनों में पेश की गई आर्थिक सर्वेक्षण रिपोर्ट को निराशाजनक बताते हुये मायावती ने कहा, ‘‘इसके साथ ही, आज केन्द्र सरकार द्वारा पेश की गई आर्थिक सर्वेक्षण रिपोर्ट, देश की जनता को काफी कुछ निराश करने वाली है।’’ 





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।