मेरठ : भाकियू ने 27 Sep.को भारत बंद के लिए झोंकी ताकत

मेरठ : भाकियू ने 27 Sep.को भारत बंद के लिए झोंकी ताकत

मुजफ्फरनगर महापंचायत में 27 सितंबर को भारत बंद का ऐलान किया था। भाकियू के पदाधिकारी विभिन्न संगठनों से लगातार संपर्क कर रहे हैं। भाकियू पदाधिकारियों ने बताया कि शुक्रवार को मेरठ समेत आसपास के सभी इलाकों में व्यापारियों, वकीलों, शिक्षकों और अन्य संगठनों से बंद में शामिल होने की अपील की है।

मेरठ , भाकियू ने संयुक्त किसान मोर्चा के आह्वान पर 27 सितंबर को भारत बंद की तैयारी तेज कर दी है। इसके तहत भाकियू पदाधिकारियों ने व्यापारियों समेत विभिन्न संगठनों से सहयोग की अपील की है। किसानों के समर्थन में अब वकील भी उतर आए हैं। मेरठ बार एसोसिएशन ने पत्र लिखकर अवगत कराया है की 27 सितंबर को वकील,किसानों के समर्थन में वकील भी उतर आए हैं। मेरठ बार एसोसिएशन ने पत्र लिखकर अवगत कराया है की 27 सितंबर को वकील न्यायिक कार्य से विरत रहेंगे। 

संयुक्त किसान मोर्चा ने पांच सितंबर को मुजफ्फरनगर महापंचायत में 27 सितंबर को भारत बंद का ऐलान किया था। लखनऊ में संयुक्त किसान मोर्चा की बैठक में इसके लिए तैयारी तेज करने का आह्वान किया था। इसके तहत, अब भाकियू के पदाधिकारी विभिन्न संगठनों से लगातार संपर्क कर रहे हैं। भाकियू पदाधिकारियों ने बताया कि शुक्रवार को मेरठ समेत आसपास के सभी इलाकों में व्यापारियों, वकीलों, शिक्षकों और अन्य संगठनों से बंद में शामिल होने की अपील की है।  मनोज त्यागी, निवर्तमान जिलाध्यक्ष, भाकियू कहते हैं कि 27 सितंबर का बंद ऐतिहासिक होगा। बंद का व्यापारी, किसान सभी समर्थन कर रहे हैं। गांव से शहर तक लोग संपर्क में हैं। 

संयुक्त किसान मोर्चा के आह्वान पर 27 सितंबर को होने वाले बंद को लेकर निवर्तमान जिलाध्यक्ष मनोज त्यागी और प्रवक्ता बबलू जिटौली ने बताया कि बंद को सफल बनाने के लिए मेरठ जिले में किसान सात जगह चक्का जाम किया जायेगा। मेरठ-पौढ़ी हाईवे पर छोटा मवाना पुलिस चौकी के पास और बहसूमा, एनएच-58 पर सिवाया टोल प्लाजा, मेरठ-करनाल मार्ग पर नानू गंगनहर पुल और दबथुआ, मेरठ-बागपत रोड पर जानी और मेरठ-दिल्ली रोड पर परतापुर तिराहा पर चक्का जाम किया जाएगा। बाजार बंद कराने के लिए व्यापारियों से अपील की जाएगी। कर्मचारी संगठन भी मोर्चा के साथ भारत बंद के समर्थन में आ गए हैं। अब ऐसा माना जारहा है की कर्मचारी संगठनों के सहयोग से सरकारी कार्यालय भी बंद रहेंगे।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।