महबूबा ने पुलिस से कहा: आतंकवादियों का आत्मसमर्पण सुनिश्चित करें

Mehbooba told state police ensure surrender of more terrorist
जम्मू कश्मीर की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने राज्य पुलिस से कहा कि वे और अधिक संख्या में आतंकवादियों का आत्मसमर्पण सुनिश्चित करें तथा उनके परिवारों के खिलाफ जवाबी कार्रवाई से बचें।

मनिगाम (जम्मू कश्मीर)। जम्मू कश्मीर की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने राज्य पुलिस से कहा कि वे और अधिक संख्या में आतंकवादियों का आत्मसमर्पण सुनिश्चित करें तथा उनके परिवारों के खिलाफ जवाबी कार्रवाई से बचें। इसके साथ ही उन्होंने आतंकवादियों का आत्मसमर्पण कराने वालों के लिए इनामी राशि दोगुनी करने की भी घोषणा की। मुख्यमंत्री ने यहां पुलिस ट्रेनिंग स्कूल में 696 कांस्टेबलों के पासिंग आउट परेड के मौके पर एक संबोधन में कहा कि ‘‘चार, आठ, 50 या 100’’ आतंकवादियों को मारने से आतंकवाद समाप्त नहीं होगा और इसके लिए लोगों को साथ लेना होगा तथा उनके दिलों को जीतना होगा।

उन्होंने कहा, ‘‘जब आपको कोई मौका मिलता है जहां कोई स्थानीय आतंकवादी, मुठभेड़ के दौरान या पहले, आत्मसमर्पण के लिए तैयार होता है उसे जिंदा वापस लाने पर मैं आपको दोगुना इनाम दूंगी।’’ उन्होंने कहा कि हमें प्रयास करना होगा क्योंकि किसी आतंकवादी को मार गिराना आसान है लेकिन आतंकवाद को मारना कठिन है। महबूबा ने पुलिस से कहा कि वह आतंकवादियों से भिन्न बनें और बदले की कार्रवाई से परहेज करें। उन्होंने 17-18 अक्तूबर की घटनाओं का भी जिक्र किया जब आतंकवादियों ने पीडीपी के एक नेता की हत्या कर दी और अगले दिन उनके घर में आग लगा दी।

उन्होंने कहा, आतंकवादी हमारे लोगों, पुलिसकर्मियों की जान लेते हैं और उसके बाद उनके घरों में तोडफोड करते हैं या आग लगा देते हैं, लेकिन हमारे बलों को, चाहे पुलिस हों या सुरक्षा बल, ऐसी चीजें नहीं करनी चाहिए।’’ उन्होंने कहा, ‘‘हम कानून के रक्षक हैं।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़