• मोदी मंत्रिमंडल का बड़ा फैसला, लद्दाख में केंद्रीय विश्वविद्यालय की होगी स्थापना, जानिए और क्या निर्णय लिए गए

केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर ने कहा कि लद्दाख में केंद्रीय विश्वविद्यालय की स्थापना से उच्च शिक्षा का प्रचार होगा और छात्रों को उच्च शिक्षा का अवसर मिलेगा। उन्होंने कहा कि यह विश्वविद्यालय वहां अन्य शिक्षण संस्थानों के लिए भी एक मॉडल की तरह काम करेगा।

नयी दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में गुरुवार को कैबिनेट की बैठक हुई। जिसमें कई फैसले लिए गए। केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर ने प्रेस कॉन्फ्रेंस के माध्यम से इस फैसलों के बारे में जानकारी दी। उन्होंने बताया कि मोदी कैबिनेट ने केंद्र शासित प्रदेश लद्दाख में एक केंद्रीय विश्वविद्यालय की स्थापना की मंजूरी दी है। उन्होंने बताया कि 750 करोड़ रुपए की लागत से केंद्रीय विश्वविद्यालय का निर्माण किया जाएगा। 

इसे भी पढ़ें: बेटा मोदी सरकार में मंत्री, माता-पिता खेतों में करते हैं मजदूरी, ऐसा है उनका सादगी भरा जीवन 

उन्होंने कहा कि लद्दाख में केंद्रीय विश्वविद्यालय की स्थापना से उच्च शिक्षा का प्रचार होगा और छात्रों को उच्च शिक्षा का अवसर मिलेगा। उन्होंने कहा कि यह विश्वविद्यालय वहां अन्य शिक्षण संस्थानों के लिए भी एक मॉडल की तरह काम करेगा।

केंद्रीय मंत्री ने दूसरे बड़े निर्णय के बारे में जानकारी देते हुए कहा कि इंटीग्रेटेड बहुउद्देशीय कॉर्पोरेशन की स्थापना का निर्णय लिया गया है। ये कॉर्पोरेशन लद्दाख में पर्यटन, उद्योग, परिवहन सुविधाओं के विकास और स्थानीय उत्पादों और हस्तशिल्प की मार्केटिंग जैसे महत्वपूर्ण कार्य और इंफ्रास्ट्रक्चर निर्माण में करेगा। उन्होंने बताया कि इसकी स्थापना से लद्दाख में तीव्र गति के विकास का मार्ग प्रशस्त होगा। साथ ही साथ क्षेत्र की जनता का सामाजिक और आर्थिक विकास होगा। 

इसे भी पढ़ें: चिराग को छोड़ पारस को साधना भाजपा के किस सियासी गणित का हिस्सा है? 

इसके अलावा उन्होंने बताया कि भारत क्रूड स्टील में दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा उत्पादक देश है। लेकिन जब स्पेशल स्टील की बात आती है तो हम दुनियाभर से स्टील आयात करते हैं। ऐसे में सरकार ने 6,322 करोड़ रुपए की पीएलआई स्कीम स्पेशियलिटी स्टील की मंजूरी दी गई है। इससे उत्पादन बढ़ेगा, आयात कम होगा। कुल मिलाकर 39,625 करोड़ रुपये का निवेश आकर्षित होगा और 5.25 लाख लोगों को रोजगार के अवसर मिलेंगे।