'मोदी जी ने दिखाया बड़प्पन', राज्यपाल मलिक ने कहा- देर आए, दुरुस्त आए

'मोदी जी ने दिखाया बड़प्पन', राज्यपाल मलिक ने कहा- देर आए, दुरुस्त आए

राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी प्रो किसान हैं। पता नहीं उन्हें क्या हो गया था लेकिन देर आए, दुरुस्त आए। इसी बीच उन्होंने कहा कि किसानों का जो भी फैसला होगा उसके साथ मैं रहूंगा। राज्यपाल ने किसानों ने शांतिप्रिय आंदोलन चलाकर उन्होंने इतिहास बना दिया है।

नयी दिल्ली। मेघालल के राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने तीनों कृषि कानूनों को वापस लेने के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के फैसले का स्वागत किया। उन्होंने कहा कि किसानों ने बहुत ज्यादा तकलीफ सही है लेकिन फिर भी वो डटे रहे हैं। ऐसे में उन्हें बधाई। उन्होंने कहा कि मैंने पहले ही कहा था कि मुझे मोदी जी थे उम्मीद है और उन्होंने फैसला वापस लेकर बड़प्पन दिखाया है। 

इसे भी पढ़ें: प्रियंका गांधी ने PM मोदी पर साधा निशाना, बोलीं- आपकी नीयत और बदलते रुख पर विश्वास करना मुश्किल 

किसानों के साथ हैं राज्यपाल सत्यपाल मलिक 

हिन्दी न्यूज चैनल 'एनडीटीवी' के साथ बातचीत में राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी प्रो किसान हैं। पता नहीं उन्हें क्या हो गया था लेकिन देर आए, दुरुस्त आए। इसी बीच उन्होंने कहा कि किसानों का जो भी फैसला होगा उसके साथ मैं रहूंगा। राज्यपाल ने किसानों ने शांतिप्रिय आंदोलन चलाकर उन्होंने इतिहास बना दिया है। लगातार किसानों के पक्ष में बेबाक ढंग से बोलने वाले राज्यपाल ने स्पष्ट कर दिया कि मैं किसानों के साथ हूं। 

इसे भी पढ़ें: गुरु पर्व पर किसानों की ऐतिहासिक जीत, कोई भी सरकार फिर कभी ऐसे कानून ना बनाए: शिअद प्रमुख 

उल्लेखनीय है कि प्रधानमंत्री मोदी ने पिछले करीब एक वर्ष से अधिक समय से विवादों में घिरे तीन कृषि कानूनों को वापस लिए जाने की घोषणा की और कहा कि इसके लिए संसद के आगामी सत्र में विधेयक लाया जाएगा। तीनों कृषि कानूनों के विरोध में किसान आंदोलन कर रहे थे।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।