मोटेरा स्टेडियम का नाम हुआ नरेंद्र मोदी स्टेडियम, राष्ट्रपति ने किया उद्घाटन

मोटेरा स्टेडियम का नाम हुआ नरेंद्र मोदी स्टेडियम, राष्ट्रपति ने किया उद्घाटन

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने इस स्टेडियम का उद्घाटन किया। इस अवसर पर गुजरात के राज्यपाल आचार्य देवव्रत, गृह मंत्री अमित शाह के अलावा खेल एवं युवा मंत्री किरण रिजिजू, गुजरात के उपमुख्यमंत्री नितिन पटेल भी मौजूद रहे।

देश के सबसे बड़े क्रिकेट स्टेडियम मोटेरा स्टेडियम का नाम बदलकर अब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नाम पर कर दिया गया है। अब गुजरात के अहमदाबाद का यह स्टेडियम नरेंद्र मोदी स्टेडियम के नाम से जाना जाएगा। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने इस स्टेडियम का उद्घाटन किया। इस अवसर पर गुजरात के राज्यपाल आचार्य देवव्रत, गृह मंत्री अमित शाह के अलावा खेल एवं युवा मंत्री किरण रिजिजू, गुजरात के उपमुख्यमंत्री नितिन पटेल भी मौजूद रहे।

आपको बता दें कि गुजरात का यह नरेंद्र मोदी स्टेडियम विश्व का सबसे बड़ा स्टेडियम है। स्टेडियम में 132000 लोगों के बैठने की व्यवस्था है। अत्याधुनिक सुविधाओं वाला यह स्टेडियम दुनिया का सबसे बड़ा स्टेडियम है। यहां पर 76 वातानुकूलित कॉरपोरेट बॉक्स हैं। बता दें कि 63 एकड़ में फैले हुए मोटेरा स्टेडियम को बनाने में करीब 700 करोड़ रुपए का खर्चा आया है और यहां पर खास तरह की लाल और काली मिट्टी का इस्तेमाल कर पिच बनाई गई है। जिसकी संख्या 11 है। यानी की मोटेरा स्टेडियम में 11 अलग-अलग पिच हैं। इस अवसर पर गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि आज भारत के खेल जगत का स्वर्णिम दिन है। आज भारत के राष्ट्रपति जी के कर-कमलों से लौह पुरुष भारत रत्न सरदार पटेल जी के नाम से जोड़कर एक बड़े स्पोर्ट्स एन्क्लेव का भूमि पूजन हुआ है। अहमदाबाद के स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स, एन्क्लेव और स्टेडियम को मिलाकर, भारत सिर्फ छह महीने में ओलंपिक की मेजबानी के लिए तैयार हो जाएगा! हमने यहा ऐसे बुनियादी ढांचे तैयार किए है जिससे अहमदाबाद को अब स्पोर्ट सिटी ऑफ इंडिया के नाम से जाना जाएगा। स्पोर्ट्स एंक्लेव में विश्व की सभी खेलों की व्यवस्था यहां होगी। देश और दुनिया के सभी खेलों के सभी खिलाड़ियों की ट्रेनिंग और रहने की व्यवस्था यहां होगी। 3,000 बच्चों के एक साथ खेलने और रहने की व्यवस्था यहां होगी। सरदार पटेल स्पोर्ट्स एनक्लेव, नरेन्द्र मोदी स्टेडियम और नारायणपुरा में बनने वाला स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स ये तीनों मिलाकर किसी भी अंतरराष्ट्रीय स्पर्धा में खेलने वाले सभी खेलों को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर खेलने की पूरी व्यवस्था एक ही शहर में एक ही स्थान पर होगी। 





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।