निर्दयी बनी मां! दूध की जिद करने पर 3 साल के बच्चे को जमीन पर पटका, हुई मौत

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  सितंबर 23, 2021   12:33
निर्दयी बनी मां! दूध की जिद करने पर 3 साल के बच्चे को जमीन पर पटका, हुई मौत
प्रतिरूप फोटो

दूध पीने की जिद करने पर मां ने बेटे को जमीन पर पटक दिया जिसके बाद बच्चे की मौत हो गई।पुलिस अधिकारियों ने बताया कि पुलिस को जानकारी मिली है कि बुधवार शाम सात्विक राव दूध पीने की जिद कर रहा था।

कोरबा। छत्तीसगढ़ के कोरबा जिले में दूध पीने की जिद कर रहे एक बच्चे को उसकी मां ने ​कथित रूप से जमीन पर पटक दिया, जिससे बच्चे की मौत हो गई। पुलिस ने मां को गिरफ्तार कर लिया है। कोरबा जिले के पुलिस अधिकारियों ने बृहस्पतिवार को बताया कि बुधवार को जिले के बालको थाना क्षेत्र के अंतर्गत सेक्टर पांच में सात्विक राव (करीब ढाई वर्ष) ने दूध पीने की जिद की, तो उसकी मां प्रमिला राव (32) ने उसे कथित रूप से जमीन पर पटक दिया, जिससे उसकी मौत हो गई। पुलिस ने प्रमिला को गिरफ्तार कर लिया है।

इसे भी पढ़ें: छत्तीसगढ़: महिला से दरिंदगी, बलात्कार के बाद प्राइवेट पार्ट में डाला डंडा

पुलिस अधिकारियों ने बताया कि पुलिस को जानकारी मिली है कि बुधवार शाम सात्विक राव दूध पीने की जिद कर रहा था। बच्चे के बार-बार दूध मांगने से प्रमिला को गुस्सा आ गया और उसने अपने बेटे को फर्श पर पटक दिया। उन्होंने बताया कि इस घटना में बालक गंभीर रूप से घायल हो गया। जब घटना की जानकारी परिजनों को मिली, तो वे बच्चे को अस्पताल ले गए जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया। पुलिस अधिकारियों ने बताया कि घटना के दौरान घर पर महिला की सास और ससुर मौजूद थे। प्रमिला का पति रामचंद्र राव बालको ट्रेनिंग सेंटर में प्रशिक्षक है। घटना के समय वह घर से बाहर था। उन्होंने बताया कि पुलिस को जानकारी मिली है कि वर्ष 2014 से प्रमिला की मानसिक स्थिति ठीक नहीं है और उसका उपचार चल रहा है। पुलिस अधिकारियों ने बताया कि जब पुलिस को घटना की जानकारी मिली तब घटना स्थल के लिए पुलिस दल रवाना किया गया और महिला को गिरफ्तार कर लिया गया। महिला से पूछताछ की जा रही है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...