महाराष्ट्र में चल रहे सियासी ड्रामे के बीच लोकसभा में बोले राहुल, लोकतंत्र की हत्या हुई है

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  नवंबर 25, 2019   12:06
महाराष्ट्र में चल रहे सियासी ड्रामे के बीच लोकसभा में बोले राहुल, लोकतंत्र की हत्या हुई है

सदन में कांग्रेस सदस्यों की नारेबाजी के बीच लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने प्रश्नकाल शुरू कराया और अनुसूचित जाति के लड़के-लड़कियों के छात्रावास विषय पर पूरक प्रश्न पूछने के लिए कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी का नाम पुकारा।

नयी दिल्ली। महाराष्ट्र में जारी राजनीतिक घटनाक्रमों के बीच कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने सोमवार को आरोप लगाया कि राज्य में ‘लोकतंत्र की हत्या हुई है।’ लोकसभा में राहुल गांधी ने यह टिप्पणी तक की जब स्पीकर ने उनसे प्रश्नकाल के दौरान पूरक प्रश्न पूछने को कहा। 

इसे भी पढ़ें: जिसने 25 साल पुराने मित्र को छोड़ दिया वह अजित पवार का साथ क्या देगा: शिवसेना

सदन में कांग्रेस सदस्यों की नारेबाजी के बीच लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने प्रश्नकाल शुरू कराया और अनुसूचित जाति के लड़के-लड़कियों के छात्रावास विषय पर पूरक प्रश्न पूछने के लिए कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी का नाम पुकारा। इस सत्र में पहली बार सदन में पहुंचे गांधी ने सवाल पूछने से इनकार करते हुए कहा, ‘‘महाराष्ट्र में लोकतंत्र की हत्या हुई है, ऐसे में मेरे सवाल पूछने का कोई मतलब नहीं है।’’

इसे भी पढ़ें: अजित पवार को लेकर आखिर मुलायम क्यों है शरद पवार ?

इस दौरान सदन में कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी भी मौजूद थीं।  गौरतलब है कि महाराष्ट्र में अप्रत्याशित राजनीतिक घटनाक्रम में राज्यपाल ने शनिवार की सुबह देवेंद्र फडणवीस को मुख्यमंत्री और अजित पवार को उप मुख्यमंत्री पद की शपथ दिलायी। इसके बाद से शिवसेना, कांग्रेस और राकांपा अपने विधायकों को मुंबई के अलग अलग होटलों में रखे हुए है। भाजपा की सरकार बनने को लेकर इन तीनों दलों ने उच्चतम न्यायालय का दरवाजा भी खटखटाया है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।