विजयादशमी पर जेल से मेरी रिहाई सांप्रदायिक शक्तियों के मुंह पर तमाचा: डॉ. अयूब

Peace Party leader Dr Ayub
पीस पार्टी के अध्‍यक्ष डॉक्‍टर अयूब ने मंगलवार को कहा कि उन्हें त्‍याग और बलिदान के त्‍योहार ईद-उल-अजहा के एक दिन पूर्व गैर कानूनी तरीके से गिरफ्तार कर जेल भेजा गया।

प्रतापगढ़। पीस पार्टी के अध्‍यक्ष डॉक्‍टर अयूब ने कहा कि न्‍यायाधीशों की तीन सदस्‍यीय सलाहकार समिति ने रासुका हटाकर उनकी रिहाई का मार्ग प्रशस्‍त किया जो विजयादशमी पर सांप्रदायिक शक्तियों के मुंह पर करारा तमाचा है। उन्होंने आरोप लगाया कि सांप्रदायिक शक्तियों ने एक षड्यंत्र के तहत उन्हें जेल भिजवाकर उनके खिलाफ राष्‍ट्रीय सुरक्षा कानून के तहत कार्रवाई कराई। अयूब ने मंगलवार को कहा कि उन्हें त्‍याग और बलिदान के त्‍योहार ईद-उल-अजहा के एक दिन पूर्व गैर कानूनी तरीके से गिरफ्तार कर जेल भेजा गया, लेकिन विजयादशमी के अवसर पर उनकी रिहाई सांप्रदायिक शक्तियों के मुंह पर करारा तमाचा है। 

इसे भी पढ़ें: उत्तर पूर्वी दिल्ली दंगा मामले में UAPA के तहत गिरफ्तार जामिया छात्र तनहा की जमानत याचिका खारिज 

उन्होंने कहा कि इस घटनाक्रम से उनकी पार्टी के कार्यकर्ताओं का मनोबल बढ़ा है। अयूब ने कहा, ‘‘राजनीतिक रूप से पीस पार्टी एक मजबूत प्रतिद्वंद्वी के रूप में सामने है और हम किसी भी अत्‍याचार से भयभीत होने वाले नहीं हैं।’’ उन्होंने कहा कि ‘सांप्रदायिकतावादी सत्‍ता को जरा भी शर्म है तो त्‍यागपत्र देकर जनता के आक्रोश का सामना करे।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़