नवजोत सिंह सिद्धू जेल से रिहा होते ही संभालेंगे अहम जिम्मेदारी, 26 जनवरी को आएंगे बाहर

navjot singh sidhu
प्रतिरूप फोटो
ANI Image
रितिका कमठान । Jan 22, 2023 3:02PM
कांग्रेस पार्टी के नेता नवजोत सिंह सिद्धू 1988 के रोड रेज मामले में एक साल की जेल की सजा काट रहे हैं। नवजोत सिंह सिद्धू को पटियाला केंद्रीय कारागार में बंद किया गया है। माना जा रहा है कि 26 जनवरी को सिद्धू जेल से बाहर आ सके है।

पंजाब कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष और पूर्व क्रिकेटर नवजोत सिंह सिद्धू के चाहने वालों के लिए खुश खबरी है। नवजोत सिंह सिद्धू जल्द ही जेल की सजा खत्म कर जेल से बाहर आ सकते है। माना जा रहा है कि उनके चार महीने की सजा को माफ किया जाएगा, जिसके बाद वो 26 जनवरी के दिन जेल से बाहर निकलेंगे।

वर्तमान में नवजोत सिंह सिद्धू पटियाला जेल में बंद है। वो वर्ष 1988 के रोड रेज मामले में एक साल की जेल की सजा काट रहे हैं। जेल से नवजोत सिंह सिद्धू की रिहाई होने से पहले सिद्धू की पत्नी डॉ. नवजोत कौर ने पार्टी प्रमुख मल्लिकार्जुन खड़गे, कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी और केसी वेणुगोपाल से भी मुलाकात की थी। इस मुलाकात के कई मायने निकाले जा रहे है।

माना जा रहा है कि मुलाकात के बाद और सिद्धू के रिहा होते ही उन्हें पंजाब कांग्रेस में अहम जिम्मेदारी दी जा सकती है। यहां तक कही खुद राहुल गांधी पंजाब में पहुंचने पर भारत जोड़ो यात्रा में शामिल होने के लिए व्यक्तिगत रूप से नवजोत सिंह सिद्धू को आमंत्रित कर चुके है। संभावना है कि जेल से रिहा होने के बाद सिद्धू धार्मिक स्थानों पर माथा टेकने जाएंगे।

30 जनवरी को खत्म होगी भारत जोड़ो यात्रा

बता दें कि भारत जोड़ो यात्रा अब अपने अंतिम पड़ाव की तरफ है। तमिलनाडु के कन्याकुमारी से सात सितंबर 2022 को शुरू हुई इस भारत जोड़ो यात्रा का समापन 30 जनवरी 2023 को जम्मू कश्मीर के श्रीनगर में होगा। इस दौरान राहुल गांधी श्रीनगर में तिरंगा भी फहराएंगे।

जम्मू पहुंची यात्रा

कांग्रेस नेता राहुल गांधी के नेतृत्व वाली ‘भारत जोड़ो यात्रा’ जम्मू में शनिवार को हुए दो विस्फोटों के मद्देनजर कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच जम्मू-कश्मीर के कठुआ जिले के हीरानगर से रविवार सुबह फिर से शुरू हुई। यह पदयात्रा एक दिन के विश्राम के बाद जम्मू-पठानकोट राजमार्ग पर अंतरराष्ट्रीय सीमा के पास हीरानगर से सुबह सात बजे के आसपास शुरू हुई। पुलिस और अन्य सुरक्षाबलों ने पूरे राजमार्ग को सील कर दिया है। कांग्रेस की जम्मू-कश्मीर इकाई के अध्यक्ष विकार रसूल वानी, कार्यकारी अध्यक्ष रमन भल्ला और तिरंगा थामे सैकड़ों स्वयंसेवकों के साथ राहुल ने सुबह लगभग आठ बजे लोंदी जांच चौकी पार करने के बाद सांबा जिले के तपयाल-गगवाल में प्रवेश किया। इस दौरान, सड़क के दोनों ओर खड़े उत्साही कार्यकर्ताओं और समर्थकों ने उनका स्वागत किया। 

रविवार को लगभग 25 किलोमीटर की दूरी तय करने के बाद ‘भारत यात्री’ चक नानक में रात्रि विश्राम करेंगे। सोमवार सुबह वे सांबा के विजयपुर से जम्मू की तरफ बढ़ेंगे। अधिकारियों ने कहा कि राहुल की सुरक्षा के पर्याप्त इंतजाम किए गए हैं और पुलिस, केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) व अन्य सुरक्षा एजेंसियां ​​शांतिपूर्ण मार्च सुनिश्चित करने के लिए कड़ी निगरानी रख रही हैं। जम्मू शहर के बाहरी इलाके नरवाल में शनिवार को हुए दो विस्फोटों के मद्देनजर पूरे केंद्र-शासित प्रदेश में सुरक्षा बढ़ा दी गई है। इन विस्फोटों में नौ लोग घायल हो गए थे। पुलिस को संदेह है कि नरवाल के ट्रांसपोर्ट नगर इलाके में एक दुकान में खड़ी एसयूवी और पास के कबाड़खाने में मौजूद वाहन में विस्फोट करने के लिए आईईडी का इस्तेमाल किया गया था। ये विस्फोट ऐसे समय हुए हैं, जब जम्मू-कश्मीर में ​​​​कांग्रेस की ‘भारत जोड़ो यात्रा’ और आगामी गणतंत्र दिवस समारोह के मद्देनजर सुरक्षा एजेंसियां हाई अलर्ट पर हैं।  

अन्य न्यूज़