NC का दावा, फारूक अब्दुल्ला को नमाज पढ़ने के लिए बाहर जाने से रोका गया

Farooq Abdullah
जेकेएनसी खासकर मिलाद-उन-नबी के पवित्र अवसर पर प्रार्थना के मौलिक अधिकार के उल्लंघन की निंदा करता है।’ लोकसभा में श्रीनगर का प्रतिनिधित्व करने वाले फारूक अब्दुल्ला डल झील के किनारे स्थित हजरतबल दरगाह पर जाकर नमाज पढ़ने वाले थे।

श्रीनगर। नेशनल कॉन्फ्रेंस (एनसी) ने शुक्रवार को दावा किया कि जम्मू-कश्मीर में प्राधिकारियों ने पार्टी अध्यक्ष फारूक अब्दुल्ला को मिलाद-उन-नबी के मौके पर नमाज पढ़ने के मकसद से यहां हजरतबल दरगाह जाने के लिए उनके आवास से बाहर जाने से रोक दिया। इस मामले पर टिप्पणी के लिए प्रशासन का कोई अधिकारी उपलब्ध नहीं हो सका। नेशनल कॉन्फ्रेंस ने ट्वीट किया, ‘‘जम्मू-कश्मीर प्रशासन ने पार्टी अध्यक्ष डॉ. फारूक अब्दुल्ला के आवास को अवरुद्ध कर दिया है और उन्हें नमाज पढ़ने के लिए दरगाह हजरतबल जाने से रोक दिया। 

इसे भी पढ़ें: NIA ने आतंकी गतिविधियों के लिये धन मुहैया कराने के मामले में NGO और ट्रस्ट पर मारे छापे

जेकेएनसी खासकर मिलाद-उन-नबी के पवित्र अवसर पर प्रार्थना के मौलिक अधिकार के उल्लंघन की निंदा करता है।’ लोकसभा में श्रीनगर का प्रतिनिधित्व करने वाले फारूक अब्दुल्ला डल झील के किनारे स्थित हजरतबल दरगाह पर जाकर नमाज पढ़ने वाले थे। पैगम्बर मोहम्मद की जयंती के अवसर पर मिलाद-उन-नबी मनाया जाता है। इसे इस्लामी कैलेंडर के तीसरे माह रबी-अल अव्वल में मनाया जाता है।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़