नेताजी के नाम पर बंगाल में सियासी संग्राम, पीएम मोदी का 'पराक्रम' बनाम दीदी का 'देशनायक'

नेताजी के नाम पर बंगाल में सियासी संग्राम, पीएम मोदी का 'पराक्रम' बनाम दीदी का 'देशनायक'

बंगाल की सत्ता पर काबिज ममता बनर्जी आज देशनायक दिवस बना रही हैं। टीएमसी का देशनायक दिवस कार्यक्रम ममता बनर्जी ने शंखनाद से कार्यक्रम की शुरुआत की। नेताजी सुभाष चंद्र बोस की 125वीं जयंती के अवसर पर पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी श्याम बाज़ार से रेड रोड तक मार्च निकाल रही हैं।

आज का दिन देश और बंगाल के लिए बहुत अहम है। आज नेताजी सुभाष चंद्र बोस की 125वीं जयंती है। नेताजी की जयंती को मोदी सरकार हर साल अब पराक्रम दिवस के तौर पर मनाने का फैसला लिया है। इसको लेकर बंगाल में सियासी घमासान भी मचा हुआ है। इस मौके पर खुद पीएम मोदी कोलकाता पहुंचने वाले हैं। इससे पहले उन्होंने असम के शिवसागर में पराक्रम दिवस पर बड़ी बात कहते हुए कहा कि पराक्रम दिवस उम्मीदों के पूरे होने का दिन है। पीएम ने इसे राष्ट्रीय संकल्पों की सिद्धि के लिए प्रेरणा लेने का अवसर बताया। नेताजी की जयंती पर हर सिय़ासी पार्टी अपने-अपने तरीके से उन्हें याद करने और अपनी सियासी जमीन पक्की करने में जुटी है।

इसे भी पढ़ें: पश्चिम बंगाल चुनाव के लिए कांग्रेस ने हेमंत से काफी रुपये मंगाये : रघुवर दास

बंगाल की सत्ता पर काबिज ममता बनर्जी आज देशनायक दिवस बना रही हैं। टीएमसी का देशनायक दिवस कार्यक्रम ममता बनर्जी ने शंखनाद से कार्यक्रम की शुरुआत की। नेताजी सुभाष चंद्र बोस की 125वीं जयंती के अवसर पर पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी श्याम बाज़ार से रेड रोड तक मार्च निकाल रही हैं। कदम-कदम बढ़ाये जा कि धुन ममता की पदयात्रा के दौरान बजती दिखी। कोलकाता में ममता बनर्जी का 9 किलोमीटर लंबा रोड शो कर रही हैं। वहीं कांग्रेस और लेफ्ट पार्टियां देश प्रेम दिवस के तौर पर आज का दिन मनाएगी।

प्रधानमंत्री मोदी शाम 4:30 बजे नेताजी सुभाष चंद्र बोस की 125वीं जयंती पर कोलकाता के विक्टोरिया मेमोरियल में पराक्रम दिवस कार्यक्रम में हिस्सा लेंगे। पीएम मोदी इस अवसर पर लोगों को संबोधित भी करेंगे। प्रधानमंत्री ने इस बारे में कई ट्वीट भी किए हैं।  





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।