निर्भया मामला: दोषी पवन का नाबालिग होने के दावे को खारिज करने के आदेश पर पुनर्विचार का अनुरोध

nirbhaya-case-request-for-reconsideration-of-order-dismissing-convict-pawan-s-claim-of-being-a-minor
निर्भया सामूहिक दुष्कर्म और हत्या मामले में मौत की सजा पाए चार दोषियों में से एक पवन गुप्ता ने शुक्रवार को उच्चतम न्यायालय का रुख किया और अपराध के समय नाबालिग होने के दावे वाली अपनी याचिका को खारिज किए जाने के फैसले पर पुनर्विचार का अनुरोध किया।

नयी दिल्ली। निर्भया सामूहिक दुष्कर्म और हत्या मामले में मौत की सजा पाए चार दोषियों में से एक पवन गुप्ता ने शुक्रवार को उच्चतम न्यायालय का रुख किया और अपराध के समय नाबालिग होने के दावे वाली अपनी याचिका को खारिज किए जाने के फैसले पर पुनर्विचार का अनुरोध किया।

इसे भी पढ़ें: निर्भया मामला: फांसी पर रोक लगाने की दोषियों की याचिका पर कोर्ट ने तिहाड़ को भेजा नोटिस

उच्चतम न्यायालय ने 20 जनवरी को पवन की उस याचिका को खारिज कर दिया था जिसमें उसने नाबालिग होने के अपने दावे को खारिज करने के, दिल्ली उच्च न्यायालय के फैसले को चुनौती दी थी। मामले में पवन की ओर से पेश वकील ए पी सिंह ने कहा कि उन्होंने शीर्ष न्यायालय के 20 जनवरी के आदेश पर पुनर्विचार का अनुरोध करते हुए शुक्रवार को अपने मुवक्किल की ओर से एक याचिका दायर की।

इसे भी पढ़ें: निर्भया के दोषी मुकेश की याचिका पर सुप्रीम कोर्ट ने फैसला रखा सुरक्षित

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़