अफ्रीका की सबसे ऊंची चोटी पर तिरंगा फहराकर लौटी छत्तीसगढ़ की निशु सिंह

अफ्रीका की सबसे ऊंची चोटी पर तिरंगा फहराकर लौटी छत्तीसगढ़ की निशु सिंह

माउंट किलिमंजारो पर चढ़ाई करते हुए हाड़ कपा देने वाली ठंड पहाड़ी हवाओं ने उनकी सफलता में समस्याएं पैदा करना चाहा, मगर इन सब को पीछे छोड़ते हुए मैंने सकुशल चोटी पर पहुँचकर भारत का तिरंगा फहराया। निशु सिंह कहती है कि अब अगला लक्ष्य उनका माउंट एवरेस्ट फतह करने का है वह माउंट एवरेस्ट चढ़कर छत्तीसगढ़ और देश का नाम रोशन करना चाहती है।

बिलासपुर। छत्तीसगढ़ के बिलासपुर की पर्वतारोही निशु सिंह ने अफ्रीका के तंजानिया स्थित सबसे ऊंची चोटी माउंट किलिमंजारो पर तिरंगा झंडा लहरा दिया है। माउंट किलिमंजारो  की ऊँचाई 5,895 मीटर है। निशु ने यह कीर्तिमान 22 अप्रैल 2021 को हासिल किया। इन्होंने तीन दिन में चढ़ाई को पूरा करते हुए अंतरराष्ट्रीय पर्वतारोही के रूप में अपनी पहचान बना ली। निशु सिंह की इस सफलता पर बिलासपुर सहित पूरे छत्तीसगढ़ में खुशी का महौल है। इससे पहले निशु सिंह देश की 10 ऊंची पर्वत चोटियां सफलता हासिल कर चुकी हैं। निशु सिंह बिलासपुर के भरनी में रहती हैं। इनके पिता विपिन सिंह सीआरपीएफ से रिटायर्ड जवान है, जो अब एक बैंक में अपनी सेवाएं दे रहे है। चार बहिन-भाईयों में दूसरे नम्बर की निशु सिंह की इस सफलता पर पूरा परिवार खुश है।

 

इसे भी पढ़ें: इंदौर में रेलवे ने की कोरोना मरीजों के लिए ऑक्सीजन सिलेंडर से लैस 320 बेड की व्‍यवस्‍था

हालही में अफ्रीका से लौटी निशु सिंह ने बताया कि वह एक मध्यम वर्गीय परिवार से है। क्योंकि उनके पिता भी अब रिटायर हो चुके है, जिसके चलते उन्हें कई बार आर्थिक मुश्किलों का सामना करना पड़ता है। इन परिस्थितियों में उनका सहयोग बिलासपुर NTPC, हिंदुस्तान फाउंडेशन, रोटरी क्लब और कई लोगों ने किया है। उन्होंने बताया कि माउंट किलिमंजारो पर चढ़ाई करते हुए हाड़ कपा देने वाली ठंड पहाड़ी हवाओं ने उनकी सफलता में समस्याएं पैदा करना चाहा, मगर इन सब को पीछे छोड़ते हुए मैंने सकुशल चोटी पर पहुँचकर भारत का तिरंगा फहराया। निशु सिंह कहती है कि अब अगला लक्ष्य उनका माउंट एवरेस्ट फतह करने का है वह माउंट एवरेस्ट चढ़कर छत्तीसगढ़ और देश का नाम रोशन करना चाहती है। 

 

इसे भी पढ़ें: कोरोना पॉजिटिव दुल्हे ने पीपीई किट पहनकर रचाया विवाह, पंडित ने भी पहनी पीपीई किट

निशु सिंह के पिता विपिन सिंह ने बताया कि अपनी बेटी निशु पर उन्हें गर्व है। उन्होंने बताया कि निशु ने अपनी माँ के साथ मिलकर माउंट किलिमंजारो की चोटी फहराने वाले तिरंगे को घर पर ही बनाया था। यही नहीं निशु को पूरा विश्वास था कि वह अफ्रीका की सबसे ऊंची चोटी को फतह कर लेंगी। विपिन सिंह ने बताया कि उन्हें अपनी बेटी पर गर्व है कि उसने मेरा व पूरे परिवार का नाम रोशन किया है। विपिन सिंह का कहना है कि अगर सरकार उनकी बेटी की मदद करे तो वही पूरे देश और प्रदेश का नाम अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर रोशन करने के लिए तैयार है।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।