एमवीए सरकार को ‘खतरे’ के विपक्ष के दुष्प्रचार में कोई सच्चाई नहीं : संजय राउत

Sanjay Raut
शिवसेना सांसद संजय राउत ने बुधवार को कहा कि महाराष्ट्र में महा विकास आघाडी (एमवीए) सरकार स्थिर है और सत्तारूढ़ गठबंधन को किसी तरह के ‘‘खतरे’’ के विपक्ष के दुष्प्रचार में कोई सच्चाई नहीं है।

मुंबई। शिवसेना सांसद संजय राउत ने बुधवार को कहा कि महाराष्ट्र में महा विकास आघाडी (एमवीए) सरकार स्थिर है और सत्तारूढ़ गठबंधन को किसी तरह के ‘‘खतरे’’ के विपक्ष के दुष्प्रचार में कोई सच्चाई नहीं है। एमवीए सरकार में मतभेदों की अटकलों के बीच राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) अध्यक्ष शरद पवार के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे से मुलाकात करने के एक दिन बाद राउत की ये टिप्पणियां आयी हैं। एमवीए सरकार में शिवसेना, राकांपा और कांग्रेस शामिल हैं। ऐसी अफवाहें चल रही हैं कि शिवसेना अपने पूर्व सहयोगी दल भाजपा से सुलह करने पर विचार कर रही है।

इसे भी पढ़ें: उत्तर प्रदेश की पंचायत का अजीब इंसाफ, बलात्कार के आरोपी को पड़ेंगी पांच चप्पल

राउत ने यहां पत्रकारों से बातचीत में कहा, ‘‘सबकुछ ठीक है। एमवीए सरकार को कोई खतरा नहीं है। सरकार को किसी तरह के खतरे के विपक्ष के दुष्प्रचार में कोई सच्चाई नहीं है।’’ मंगलवार को मुख्यमंत्री और राकांपा अध्यक्ष के बीच मुलाकात के बारे में पूछने पर राउत ने कहा कि उन्होंने ‘‘मौजूदा राजनीतिक हालात’’ पर चर्चा की। उन्होंने कहा, ‘‘गठबंधन के दो बड़े नेता मुख्यमंत्री और सरकार के मुख्य मार्गदर्शक ने मुलाकात की।’’

इसे भी पढ़ें: डीडीएमए ने कोविड-19 प्रोटोकॉल के उल्लंघन के कारण लक्ष्मी नगर बाजार किया बंद

राज्यसभा सदस्य ने कहा कि बैठक के बाद उन्होंने भी पवार से बात की। कोविड-19 महामारी से लड़खड़ायी अर्थव्यवस्था के लिए हाल में केंद्र सरकार द्वारा घोषित पैकेज पर एक सवाल के जवाब में राउत ने कहा, ‘‘मुझे नहीं लगता कि आम जनता इससे खुश है। आजीविका, नौकरियों को हुए नुकसान और बढ़ती बेरोजगारी पर लोगों की चिंताओं पर सरकार ने कुछ स्पष्ट नहीं किया।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़