ह्यूमन डेवलपमेंट रिपोर्ट का खुलासा, भारत में 10000 लोगों में से सिर्फ 5 को मिलता है अस्पताल में बेड

ह्यूमन डेवलपमेंट रिपोर्ट का खुलासा, भारत में 10000 लोगों में से सिर्फ 5 को मिलता है अस्पताल में बेड

सरकार की ओर से यह भी दावा किया जा रहा है कि इस महामारी के दौरान देश की स्वास्थ्य सुविधाओं में काफी इजाफा किया गया है। सरकार का यह दावा दिखाई भी देता है। इसके अलावा देश में अब तक की स्वास्थ्य व्यवस्थाओं को लेकर समय-समय पर अलग-अलग तरह के रिपोर्ट आते रहे हैं।

दुनियाभर में कोरोना महामारी का कहर जारी है। भारत में भी इस महामारी का प्रकोप देखने को मिल रहा है। हालांकि सरकार लगातार यह दावा कर रही है कि स्थितियां नियंत्रण में है। सरकार की ओर से यह भी दावा किया जा रहा है कि इस महामारी के दौरान देश की स्वास्थ्य सुविधाओं में काफी इजाफा किया गया है। सरकार का यह दावा दिखाई भी देता है। इसके अलावा देश में अब तक की स्वास्थ्य व्यवस्थाओं को लेकर समय-समय पर अलग-अलग तरह के रिपोर्ट आते रहे हैं। अभी हाल में ही दुनियाभर के देशों में अस्पतालों और बेड्स को लेकर ह्यूमन डेवलपमेंट रिपोर्ट 2020 आई है।

इसे भी पढ़ें: मिक्स थैरेपी बताकर जिसका विरोध हो रहा है, वह इस समय देश की जरूरत है

इस रिपोर्ट में यह बताया गया है कि 10000 की जनसंख्या पर किन-किन देशों में कितने बेड्स और डॉक्टर उपलब्ध हैं। फिलहाल इस रिपोर्ट में 167 देशों को शामिल किया गया है। हैरानी की बात तो यह है कि ह्यूमन डेवलपमेंट रिपोर्ट 2020 में भारत का नंबर 155वां है। यानी कि बेड्स के मामले में भारत 167 देशों में 155वें स्थान पर है। इसका मतलब साफ है कि देश में स्वास्थ्य सुविधाओं का कितना अभाव है। इस रिपोर्ट की मानें तो भारत में 10000 लोगों के बीच सिर्फ 5 बेड्स अस्पताल में उपलब्ध है, वही डॉक्टर की बात करें तो 10000 की जनसंख्या में भारत में यह आंकड़ा 8.6 का है।

इसे भी पढ़ें: SC ने सरकार से कहा, कोविड-19 की ड्यूटी कर रहे चिकित्सकों को अवकाश देने पर करे विचार

जनसंख्या के अनुपात में कम बेड्स वाले देशों में भारत की स्थिति युगांडा, सेनेगल, अफगानिस्तान, बुर्किना फासो, नेपाल और ग्वाटेमाला जैसै देशों की ही तरह है। भारत से अच्छी स्थिति उसके पड़ोसी देश बांग्लादेश की है। बंगलादेश में 10000 की जनसंख्या पर अस्पतालों में 8 बिस्तर उपलब्ध है। हां, डॉक्टर के मामले में यहां 10000 में 5.8 हैं। चीन की बात करें तो यहां 10000 में 43 लोगों को बेड्स मिलता है और डॉक्टर का आंकड़ा 19.8 है। श्रीलंका में 42 लोगों के लिए बेड उपलब्ध है जबकि डॉक्टर का आंकड़ा 10 है। भूटान में 10000 की जनसंख्या में 17 लोगों को बिस्तर मिल जाता है वही डॉक्टर्स का आंकड़ा 4.2 है। बात पाकिस्तान की करें तो यहां 10000 की जनसंख्या में 6 लोगों को बिस्तर मिल जाता है तो वही डॉक्टर का आंकड़ा भी 9.8 है।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।