जवान अपनी शादी में समय से पहुंच सके इसके लिए BSF ने निकाला यह आइडिया

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  अप्रैल 28, 2022   14:32
जवान अपनी शादी में समय से पहुंच सके इसके लिए BSF ने निकाला यह आइडिया
Prabhasakshi

जवान को शादी के लिए समय पर घर पहुंचाने की खातिर विशेष एयरलिफ्ट का आदेश दिया गया है।अधिकारी ने बताया कि जवान के माता-पिता ने हाल ही में यूनिट कमांडरों से संपर्क किया। वे चिंतित थे, क्योंकि उक्त तिथि के लिए सभी तैयारियां कर ली गई थीं।

श्रीनगर।सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) ने जम्मू-कश्मीर में नियंत्रण रेखा (एलओसी) की एक दूरस्थ चौकी पर तैनात एक जवान को एयरलिफ्ट करने के लिए बृहस्पतिवार को एक हेलीकॉप्टर की विशेष उड़ान संचालित की, ताकि वह अपनी शादी के लिए 2,500 किलोमीटर दूर ओडिशा में स्थित अपने घर पर समय से पहुंच सके। सीमा सुरक्षा बल के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि नियंत्रण रेखा के पास माछिल सेक्टर में एक ऊंचाई वाली चौकी पर तैनात 30 वर्षीय कांस्टेबल नारायण बेहरा की शादी दो मई को होनी तय है। उन्होंने कहा कि इस समय एलओसी चौकी बर्फ से ढकी हुई है और कश्मीर घाटी के साथ इसका सड़क संपर्क फिलहाल बंद है। इन स्थानों पर तैनात सैनिकों के लिए सैन्य हवाई उड़ान ही परिवहन का एकमात्र उपलब्ध साधन है।

इसे भी पढ़ें: झारखंड के मंत्री हाफिजुल हसन की धमकी, हमारे 20 घर बंद होंगे तो आपके 80 बंद कर देंगे

अधिकारी ने बताया कि जवान के माता-पिता ने हाल ही में यूनिट कमांडरों से संपर्क किया। वे चिंतित थे, क्योंकि उक्त तिथि के लिए सभी तैयारियां कर ली गई थीं। उन्हें लग रहा था कि उनका बेटा अपनी शादी के लिए समय से नहीं पहुंच पाएगा। मामला बीएसएफ के महानिरीक्षक (कश्मीर फ्रंटियर) राजा बाबू सिंह के संज्ञान में लाया गया। उन्होंने आदेश दिया कि श्रीनगर में तैनात बल का एक हेलीकॉप्टर जिसका नाम चीता है, तुरंत बेहरा को एयरलिफ्ट करे। हेलीकॉप्टर बृहस्पतिवार तड़के बेहरा कोश्रीनगर ले आया। वह अब ओडिशा के ढेंकनाल जिले के आदिपुर गांव में अपने घर जा रहे हैं। सिंह ने बताया कि उन्होंने हवाई सेवा को मंजूरी इसलिए दी क्योंकि सैनिकों का कल्याण उनकी पहली और सबसे महत्वपूर्ण प्राथमिकता है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।