धीमी पड़ी वैक्सीनेशन की रफ्तार, कांग्रेस ने उठाया सवाल, बोले- फिर से पुरानी स्थिति लौटे

धीमी पड़ी वैक्सीनेशन की रफ्तार, कांग्रेस ने उठाया सवाल, बोले- फिर से पुरानी स्थिति लौटे

वैक्सीनेशन के महाअभियान के तहत पहले दिन 86 लाख से अधिक लोगों को वैक्सीन लगाई गई थी लेकिन मंगलवार को रफ्तार धीमी पड़ गई। बता दें कि मंगलवार को 54 लाक लोगों को वैक्सीन की डोज दी गई। जिस पर कांग्रेस ने बड़ा हमला बोला है। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पी चिदंबरम ने कहा कि रविवार को वैक्सीन जमा की गई और सोमवार को वैक्सीनेशन का ‘विश्व कीर्तिमान’ स्थापित किया गया। लेकिन इसके अगले दिन फिर से पुरानी स्थिति रही।

नयी दिल्ली। कोरोना वायरस महामारी के खिलाफ जारी युद्ध में जीत हासिल करने के लिए वैक्सीनेशन अभियान को गति दी गई थी। लेकिन एक दिन बाद ही रफ्तार धीमी हो गई। केंद्र सरकार द्वारा 18 साल से अधिक उम्र के तमाम लोगों के लिए 21 जून से वैक्सीनेशन के महाअभियान की शुरुआत की गई थी। जिसने पहले दिन ही रिकॉर्ड बनाया था। हालांकि दूसरे दिन भारी गिरावट दर्ज की गई। 

इसे भी पढ़ें: भारत में 50 दिनों में कोरोना वायरस एक करोड़ मामले, संक्रमितों की संख्या 3 करोड़ के पार 

विश्व कीर्तिमान हुआ स्थापित

वैक्सीनेशन के महाअभियान के तहत पहले दिन 86 लाख से अधिक लोगों को वैक्सीन लगाई गई थी लेकिन मंगलवार को रफ्तार धीमी पड़ गई। बता दें कि मंगलवार को 54 लाक लोगों को वैक्सीन की डोज दी गई। जिस पर कांग्रेस ने बड़ा हमला बोला है। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पी चिदंबरम ने कहा कि रविवार को वैक्सीन जमा की गई और सोमवार को वैक्सीनेशन का ‘विश्व कीर्तिमान’ स्थापित किया गया। लेकिन इसके अगले दिन फिर से पुरानी स्थिति रही। 

इस दौरान पी चिदंबरम ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर तंज कसा। उन्होंने कहा कि मुझे भरोसा है कि इस कदम को गिनीज बुक में स्थान मिलेगा। कौन जानता है कि मोदी सरकार को औषधि का नोबेल पुरस्कार मिल जाए। ‘मोदी है तो मुमकिन है’ को अब ‘मोदी है तो मिरैकल है’ पढ़ा जाना चाहिए। इसके अलावा चिदंबरम ने बुधवार को अखबार की एक तस्वीर साझा की। जिसमें वैक्सीनेशन के आंकड़े दिखाए गए हैं। 

इसे भी पढ़ें: देश में अब तक कोरोना के ‘डेल्टा प्लस वेरिएंट’ के 22 मामलों का पता चला 

गौरतलब है कि केंद्र सरकार ने 21 जून से लेकर 30 जून के बीच में देशवासियों को 8 करोड़ वैक्सीन की खुराक लगाए जाने का लक्ष्य रखा है। जबकि जुलाई में 24 करोड़ से अधिक लोगों को टीका लगाया जाएगा। वैक्सीनेशन की धीमी रफ्तार में शामिल राज्यों में मध्य प्रदेश, बिहार, हरियाणा समेत कई राज्य शामिल हैं। मध्य प्रदेश में जहां पहले दिन रिकॉर्ड 16 लाख से अधिक लोगों को वैक्सीन की डोज दी गई। जबकि 22 जून को 4,842 लोगों को वैक्सीन लगी। यह जानकारी कोविन एप से एकत्रित की गई है।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।