हिन्द की फिजां में नार्को टेरर का जहर घोलने की ना'PAK' कोशिश, मासूमों को हथियार थमाने के बाद अब दे रहा ड्रग्स की डोज

हिन्द की फिजां में नार्को टेरर का जहर घोलने की ना'PAK' कोशिश, मासूमों को हथियार थमाने के बाद अब दे रहा ड्रग्स की डोज

पुलिस ने 52 किलो हेरोइन बरामद की है। जब्त की गई हेरोइन की कीमत 100 करोड़ से ज्यादा की बताई जा रही है। ड्र्ग्स की ये खेप वाया पाकिस्तान, अफगानिस्तान के रास्ते जम्मू कश्मीर में भेजी गई थी। हेरोइन के पैकटों पर 1999 लिखा है और बिच्छू का निशान भी बना है।

जन्नत में ऑपरेशन ऑलआउट से बौखलाए पाकिस्तान अब अपने पालतू आतंकियों के जरिये घाटी में ड्रग्स का कारोबार करने में लग गए हैं। पहले मासूमों को हथियार थमाने वाला पाकिस्तान अब घाटी में ड्रग्स का जहर घोलने की कोशिश में है। लेकिन सुरक्षाबलों ने घाटी में पाक की एक और नापाक साजिश को नाकाम कर दिया है। पुलिस ने 52 किलो हेरोइन बरामद की है। जब्त की गई हेरोइन की कीमत 100 करोड़ से ज्यादा की बताई जा रही है। ड्र्ग्स की ये खेप वाया पाकिस्तान, अफगानिस्तान के रास्ते जम्मू कश्मीर में भेजी गई थी। हेरोइन के पैकटों पर 1999 लिखा है और बिच्छू का निशान भी बना है। 

इसे भी पढ़ें: मुठभेड़ों पर राजनीतिक दलों के बयानों को डीजीपी दिलबाग सिंह ने बताया दुर्भाग्यपूर्ण

जम्मू-कश्मीर के पुलिस प्रमुख दिलबाग सिंह ने मीडिया को जानकारी देते हुए कहा कि पाकिस्तान यहां आतंकवाद को सुनियोजित तरीके से वित्तपोषित करने और हमारे युवाओं को इस खतरे का शिकार बनाने के लिए भारी मात्रा में मादक पदार्थ जम्मू-कश्मीर में भेज रहा है। जम्मू-कश्मीर के पुलिस महानिदेशक ने जम्मू में नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो के सहयोग से आयोजित जम्मू-कश्मीर पुलिस अधिकारियों के लिए एक विशेष प्रशिक्षण कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए यह टिप्पणी की। उन्होंने बताया कि इस ट्रेनिंग प्रोग्राम का लक्ष्य एनडीपीएस के मामलों में हमारी पुलिस में जांच के कौशल और क्षमता को बेहतर करना है। इसके साथ ही उन्होंने बताया कि ये ट्रेनिंग कार्यक्रम क्यों और कैसे इतना अधिक जरूरी है।

इसे भी पढ़ें: हुर्रियत कॉन्फ्रेंस पर बड़ी कार्रवाई की तैयारी में मोदी सरकार, UAPA के तहत लग सकता है बैन

बता दें कि जाजर कोटली में 52 किलोग्राम हेरोइन और पुंछ, बारामूला, कुपवाड़ा और अन्य सीमावर्ती क्षेत्रों में भारी मात्रा में विभिन्न दवाओं की जब्ती का जिक्र करते हुए डीजीपी ने कहा कि पाकिस्तान एक योजनाबद्ध तरीके से आतंकी फंडिंग के लिए भारी मात्रा में ड्रग्स के व्यापार करने में लगा है। गौरतलब है कि पाक की ओर से आतंक के वित्त पोषण और मासूम युवाओं को आतंक में ढकेलने की कोशिशें कोई नई बात नहीं है। लेकिन हिंद के योद्धा पाकिस्तान की हर साजिश को नाकाम कर रहे हैं। 





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...