• भारत के खिलाफ पाकिस्तान के रचे गये भयावह मंसूबे उजागर, दिल्ली पुलिस ने 6 आतंकियों को किया गिरफ्तार

रेनू तिवारी Sep 15, 2021 09:23

दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल द्वारा गिरफ्तार किए गये 6 कथित आतंकवादियों मंगलवार देर रात कोर्ट के सामने पेश किया गया और उनमें से 4 को 14 दिन की पुलिस कस्टडी में भेज दिया गया और 2 15 सितंबर को दोपहर में कोर्ट के सामने पेश किया जाएगा।

नयी दिल्ली। दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल द्वारा गिरफ्तार किए गये 6 कथित आतंकवादियों मंगलवार देर रात कोर्ट के सामने पेश किया गया और उनमें से 4 को 14 दिन की पुलिस कस्टडी में भेज दिया गया और 2 15 सितंबर को दोपहर में कोर्ट के सामने पेश किया जाएगा। दिल्ली पुलिस के विशेष प्रकोष्ठ ने मंगलवार को पाकिस्तान समर्थित आतंकवादी मॉड्यूल का भंडाफोड़ किया और पाकिस्तान में आईएसआई द्वारा प्रशिक्षित दो आतंकवादियों सहित छह लोगों को गिरफ्तार किया। यह जानकारी अधिकारियों ने दी। पुलिस ने बताया कि ये आतंकवादी देश में आगामी त्योहारों के दौरान कई विस्फोट करने की योजना बना रहे थे। पुलिस ने कहा कि पाकिस्तान स्थित अनीस इब्राहिम, जो दाऊद इब्राहिम का भाई है, आतंकी योजना को अंजाम देने के लिए अंडरवर्ल्ड के गुर्गों से जुड़ा था।

इसे भी पढ़ें: महाराष्ट्र: भाजपा नेता प्रवीण दारेकर के बयान को लेकर विवाद, राकांपा ने जतायी कड़ी आपत्ति

उन्होंने कहा किपूछताछ से पता चला है कि पाकिस्तान के आतंकी मॉड्यूल को दो घटकों अंडरवर्ल्ड और पाक-आईएसआई प्रशिक्षित आतंकी मॉड्यूल के माध्यम से संचालित किया जा रहा था। उन्होंने बताया कि आरोपियों की पहचान जान मोहम्मद शेख (47) उर्फ ‘समीर’, ओसामा (22), मूलचंद (47), जीशान कमर (28), मोहम्मद अबु बकर (23) और मोहम्मद आमिर जावेद (31) के तौर पर हुई है जिन्हें दिल्ली और उत्तर प्रदेश के कुछ हिस्सों में छापेमारी के बाद गिरफ्तार किया गया। पुलिस ने बताया कि गिरफ्तार लोगों में ओसामा और कमर पाकिस्तान में प्रशिक्षित आतंकवादी हैं जो इंटर सर्विसेज इंटेलीजेंस (आईएसआई) के निर्देश पर काम करते थे।उन्हें आईईडी लगाने के लिए दिल्ली एवं उत्तर प्रदेश में उपयुक्त स्थानों की तलाश करने का काम दिया गया था। विशेष पुलिस आयुक्त (विशेष प्रकोष्ठ) नीरज कुमार ठाकुर नेयहां संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा, एक बहु-राज्य अभियान में, हमने पाकिस्तान से प्रशिक्षित दो आतंकवादियों सहित छह लोगों को गिरफ्तार किया है। उनमें से दो, ओसामा और कमर इसी साल प्रशिक्षण के लिये पाकिस्तान गए थे, जिसके बाद वे भारत लौट आए थे।

इसे भी पढ़ें: कृषि मंत्रालय ने कृषि क्षेत्र में डिजिटल तकनीक को बढ़ावा देने के लिए पांच एमओयू पर हस्ताक्षर किए 

पुलिस ने कहा कि उन्हें केंद्रीय एजेंसियों से इनपुट मिला था कि एक पाक-प्रेरित और प्रायोजित संस्थाओं का समूह भारत में सिलसिलेवार आईईडी विस्फोटों को अंजाम देने की योजना बना रहा है। ठाकुर ने कहा, मानव और तकनीकी निगरानी की मदद से, यह पाया गया कि नेटवर्क विभिन्न राज्यों में फैला हुआ था। मंगलवार को, हमने अलग-अलग राज्यों में एक साथ छापेमारी की और शुरुआत में, पहले आरोपी शेख को राजस्थान में कोटा के पास से पकड़ा जो ट्रेन सेदिल्ली आ रहा था। बाद में, ओसामा को दिल्ली के ओखला से और बकर को सराय काले खां से पकड़ा गया, जबकि यूपी आतंकवाद निरोधी दस्ते (एटीएस) टीम के साथ मिलकर कमर को इलाहाबाद से, जावेद को लखनऊ से और मूलचंद को रायबरेली से पकड़ा गया। पुलिस उपायुक्त (विशेष प्रकोष्ठ) प्रमोद सिंह कुशवाह ने कहा कि चार आरोपियों और दो प्रशिक्षित आतंकवादियों की गिरफ्तारी से पाकिस्तान के आईएसआई प्रायोजित गिरोह और प्रशिक्षित आतंकवादी मॉड्यूल का अंडरवर्ल्ड सरगनाओं के साथ गठजोड़ का भंडाफोड़ हुआ है और दिल्ली, उत्तर प्रदेश, महाराष्ट्र तथा भारत के अन्य राज्यों में सिलसिलेवार विस्फोट करने तथा लोगों की हत्या करने की साजिश को विफल कर दिया गया है।

उन्होंने कहा, ‘‘पाकिस्तान समर्थित आतंकवादी मॉड्यूल का भंडाफोड़ किया गया है और छह लोगों को गिरफ्तार किया गया है जिनमें दो पाकिस्तान में प्रशिक्षित आतंकवादी हैं।’’ कुशवाह ने कहा कि कई राज्यों में चलाए गए अभियान में उत्तर प्रदेश के इलाहाबाद से विस्फोटक और आग्नेयास्त्र बरामद किए गए हैं। पुलिस ने कहा कि गिरफ्तार लोगों को आतंक की अलग-अलग योजनाओं को अंजाम देने का काम सौंपा गया था। दाऊद इब्राहिम के भाई अनीस इब्राहिम के नजदीकी अंडरवर्ल्ड सरगना समीर को पाकिस्तान के एक व्यक्ति ने परिष्कृत विस्फोटक उपकरण (आईईडी), अत्याधुनिक हथियार और ग्रेनेड भारत के विभिन्न लोगों को आपूर्ति करने का जिम्मा दिया गया था। पुलिस ने कहा कि पाकिस्तान में रह रहे अनीस इब्राहिम को इस मॉड्यूल का अंडरवर्ल्ड संपर्क बताया जा रहा है।