PM मोदी ने पूर्वी एशिया शिखर सम्मेलन में लिया हिस्सा, इंडो-पैसिफिक मुद्दे पर दिया जोर

PM मोदी ने पूर्वी एशिया शिखर सम्मेलन में लिया हिस्सा, इंडो-पैसिफिक मुद्दे पर दिया जोर

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 16वें पूर्वी एशिया शिखर सम्मेलन में हिस्सा लिया। इस दौरान उन्होंने कहा कि भारत बहुपक्षवाद, नियम आधारित अंतरराष्ट्रीय व्यवस्था, अंतरराष्ट्रीय कानून और सभी देशों की संप्रभुता और क्षेत्रीय अखंडता के साझा मूल्यों के प्रति सम्मान को मजबूत करने के लिए प्रतिबद्ध है। मैं कल 18वें आसियान-भारत शिखर सम्मेलन में भाग लेने के लिए उत्सुक हूं।

नयी दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से ब्रुनेई द्वारा आयोजित 16वें पूर्वी एशिया शिखर सम्मेलन में हिस्सा लिया। प्रधानमंत्री ने एक ट्वीट में लिखा कि ब्रुनेई द्वारा आयोजित 16वें पूर्वी एशिया शिखर सम्मेलन में भाग लिया। भारत के एक स्वतंत्र, खुले और समावेशी इंडो-पैसिफिक क्षेत्र में आसियान केंद्रीयता के सिद्धांत पर फिर से ध्यान केंद्रित करने की पुष्टि की। 

इसे भी पढ़ें: पेगासस मामले को लेकर भाजपा का राहुल पर पलटवार, कहा- झूठ बोलना और भ्रम फैलाना उनकी आदत रही है 

प्रधानमंत्री ने कहा कि भारत बहुपक्षवाद, नियम आधारित अंतरराष्ट्रीय व्यवस्था, अंतरराष्ट्रीय कानून और सभी देशों की संप्रभुता और क्षेत्रीय अखंडता के साझा मूल्यों के प्रति सम्मान को मजबूत करने के लिए प्रतिबद्ध है। मैं कल 18वें आसियान-भारत शिखर सम्मेलन में भाग लेने के लिए उत्सुक हूं।

पूर्वी-एशिया शिखर सम्मेलन में 10 आसियान देशों के सदस्यों के अलावा भारत, चीन, जापान, कोरिया, ऑस्ट्रेलिया, न्यूजीलैंड, अमेरिका और रूस शामिल ने हिस्सा लिया।

PM मोदी ने पिछले साल भी लिया था हिस्सा

आपको बता दें कि डिजिटल माध्यम से होने वाले इस सम्मेलन में आसियान देशों के मुखिया हिस्सा लेंगे। यह सम्मेलन हर साल आयोजित किया जाता है, जो आसियान व भारत को शीर्ष स्तर पर संवाद करने का मौका देता है। प्रधानमंत्री मोदी ने पिछले साल नवंबर में 17वें आसियान सम्मेलन में हिस्सा लिया था। इस बार वह नौवें आसियान-भारत शिखर सम्मेलन में हिस्सा लेंगे। 

इसे भी पढ़ें: गृह मंत्री अमित शाह का दावा, आजादी के बाद से सबसे सफल प्रधानमंत्री हैं नरेंद्र मोदी 

प्रधानमंत्री कार्यालय ने बताया था कि आसियान-भारत साझेदारी साझा भौगोलिक, ऐतिहासिक और सभ्यता के मजबूत आधारों पर आधारित है। आसियान समूह शुरू से भारत की एक्ट इस्ट नीति और इंडो-पैसिफिक क्षेत्र को लेकर व्यापक दृष्टिकोण का मूल केंद्र रहा है।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।