पटोले ने विधान परिषद में विपक्ष के नेता का पद शिवसेना को दिए जाने पर आपत्ति जताई

Patole
प्रतिरूप फोटो
ANI
कांग्रेस की महाराष्ट्र इकाई के अध्यक्ष नाना पटोले ने विधान परिषद में विपक्ष के नेता का पद शिवसेना के अंबादास दानवे को दिए जाने पर बृहस्पतिवार को निराशा जताई और चेतावनी दी कि राज्य में महा विकास आघाडी (एमवीए) गठबंधन ‘‘स्थायी नहीं’’ है।

औरंगाबाद, 12 अगस्त।  कांग्रेस की महाराष्ट्र इकाई के अध्यक्ष नाना पटोले ने विधान परिषद में विपक्ष के नेता का पद शिवसेना के अंबादास दानवे को दिए जाने पर बृहस्पतिवार को निराशा जताई और चेतावनी दी कि राज्य में महा विकास आघाडी (एमवीए) गठबंधन ‘‘स्थायी नहीं’’ है। पटोले ने आरोप लगाया कि महाराष्ट्र विधान परिषद के विपक्ष के नेता के संबंध में फैसला लेने से पहले उनकी पार्टी को इस बारे में नहीं बताया गया। कांग्रेस द्वारा आयोजित तिरंगा यात्रा कार्यक्रम का उद्घाटन करने के लिए औरंगाबाद आए पटोले ने कहा कि राज्य में एकनाथ शिंदे और देवेंद्र फडणवीस के नेतृत्व वाली सरकार केंद्रीय एजेंसियों और धन का उपयोग कर सत्ता में आई है और यह लंबे समय तक नहीं टिकेगी।

उन्होंने कहा, ‘‘विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष का पद राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी को दिया गया, जबकि शिवसेना को परिषद के उपसभापति का पद दिया गया, इसलिए हमें लगा कि कांग्रेस को यह (विधान परिषद में विपक्ष के नेता का) पद मिलना चाहिए। यह फैसला हमें ध्यान में रखे बिना लिया गया। हम इस मुद्दे को उठाएंगे।’’ पटोले ने कहा, हम उनसे बात करने को तैयार हैं। अगर वे (शिवसेना) बात नहीं करना चाहते तो यह उनकी समस्या है। हमने अलग परिस्थितियों में यह गठबंधन किया था। यह कोई हमारे स्वाभाव का या स्थायी गठबंधन नहीं है।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़