पीएम मोदी का सपा पर हमला, कहा- लाल टोपी वाले उत्तर प्रदेश के लिए खतरे की घंटी

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  दिसंबर 7, 2021   16:15
पीएम मोदी का सपा पर हमला, कहा- लाल टोपी वाले उत्तर प्रदेश के लिए  खतरे की घंटी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को उत्तर प्रदेश के मुख्य विपक्षी दल समाजवादी पार्टी (सपा) पर करारा हमला करते हुए कहा कि अपनी तिजोरी भरने और आतंकवादियों पर मेहरबानी दिखाने के लिए सत्ता चाह रहे लाल टोपी वाले लोग प्रदेश के लिए खतरे की घंटी हैं।

गोरखपुर (उत्तर प्रदेश)। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को उत्तर प्रदेश के मुख्य विपक्षी दल समाजवादी पार्टी (सपा) पर करारा हमला करते हुए कहा कि अपनी तिजोरी भरने और आतंकवादियों पर मेहरबानी दिखाने के लिए सत्ता चाह रहे लाल टोपी वाले लोग प्रदेश के लिए खतरे की घंटी हैं। प्रधानमंत्री ने गोरखपुर एम्स, खाद कारखाने और आईसीएमआर के क्षेत्रीय केंद्र का लोकार्पण करने के बाद अपने संबोधन में सपा पर हमला करते हुए कहा, लोहिया जी और जयप्रकाश नारायण के आदर्शों और अनुशासन को यह लोग कब का छोड़ चुके हैं।

आज पूरा उत्तर प्रदेश अच्छी तरह जानता है कि लाल टोपी वालों को लाल बत्ती से मतलब रहा है। उनको आपके दुख तकलीफ से कोई लेना देना नहीं है। मोदी ने आरोप लगाया, लाल टोपी वालों को सत्ता चाहिए। घोटालों के लिए, अपनी तिजोरी भरने के लिए, अवैध कब्जों के लिए, माफियाओं को खुली छूट देने के लिए। लाल टोपी वालों को सरकार बनानी है आतंकवादियों पर मेहरबानी दिखाने के लिए, उन्हें जेल से छुड़ाने के लिए इसलिए याद रखिये कि लाल टोपी वाले यूपी के लिए रेड अलर्ट हैं। यानी खतरे की घंटी हैं। गौरतलब है कि लाल टोपी समाजवादी पार्टी नेताओं और कार्यकर्ताओं की पहचान है। उन्होंने कहा, उत्तर प्रदेश के गन्ना किसान नहीं भूल सकते कि प्रदेश में भाजपा सरकार से पहले की जो सरकार थी उसने कैसे गन्ना किसानों को पैसे के भुगतान में रुला दिया था। किस्तों में जो पैसा मिलता था उसमें भी महीनों का अंतर होता था।

उत्तर प्रदेश में चीनी मिलों को लेकर कैसे-कैसे खेल होते थे। क्या-क्या घोटाले किए थे। इससे पूरे उत्तर प्रदेश के लोग अच्छी तरह परिचित हैं। मोदी ने प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार की तारीफ करते हुए कहा हमारी डबल इंजन की सरकार आपकी सेवा करने में जुटी है। आपको विरासत में जो मुसीबतें में मिली हैं, हम नहीं चाहते कि वह मुसीबतें विरासत में आपकी संतानों को मिलने की नौबत आये। पहले की सरकारों के वह दिन भी देश ने देखे हैं जब अनाज होते हुए भी गरीबों को नहीं मिलता था, आज हमारी सरकार ने सरकारी गोदाम गरीबों के लिए खोल दिए हैं। योगी जी पूरी ताकत से हर घर तक अन्य पहुंचाने में जुटे हुए हैं। इसका लाभ यूपी के लगभग 15 करोड़ लोगों को हो रहा है। प्रधानमंत्री ने दावा किया कि पहले की सरकारों ने अपराधियों को संरक्षण देकर उत्तर प्रदेश का नाम बदनाम कर दिया था।

आज माफिया जेल में हैं और निवेशक दिल खोलकर उत्तर प्रदेश में निवेश कर रहे हैं। यही डबल इंजन का डबल विकास है। इस पर जनता को विश्वास है और हमें उम्मीद है कि आपका आशीर्वाद आगे भी मिलता रहेगा। मोदी ने इससे पहले 600 एकड़ क्षेत्र में 8603 करोड़ रुपये की लागत से बने हिंदुस्तान उर्वरक रसायन लिमिटेड के खाद कारखाने, 112 एकड़ क्षेत्र में 1011 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित एम्स और गोरखपुर मेडिकल कॉलेज में स्थित आईसीएमआर के रीजनल मेडिकल रिसर्च सेंटर का लोकार्पण किया। उन्होंने कहा कि गोरखपुर में एम्स की मांग बरसों से हो रही थी लेकिन 2017 से पहले जो सरकार चला रहे थे उन्होंने एम्स के लिए जमीन देने में हर तरह के बहाने किए। जब बात आर या पार की हो गई तब बहुत बेमन से मजबूरी में उस वक्त की सरकार ने एम्स के लिए जमीन आवंटित की थी। प्रधानमंत्री ने अपने भाषण की शुरुआत पुरबिया बोली से की और क्षेत्र के लोगों को इन विकास परियोजनाओं के लोकार्पण की बधाई दी।

उन्होंने दावा किया कि भाजपा सरकार द्वारा उठाए गए कदमों की वजह से गोरखपुर और बस्ती मंडलों के सात जिलों में दिमागी बुखार के मामले लगभग 90% तक कम हो चुके हैं। मोदी ने कहा, पहले किसानों को खाद के लिए लाठी-गोली तक खानी पड़ती थी। इसलिए हमने अभियान के तहत गोरखपुर के इस फर्टिलाइजर प्लांट समेत देश के चार और बड़े खाद कारखाने खोलने के लिए चुने। आज उनमें से एक की शुरुआत हो गई है बाकी भी अगले वर्षों में शुरू हो जाएंगे। प्रधानमंत्री ने कहा, कोविड-19 के चलते आपूर्ति श्रृंखला टूट गई, जिससे अंतरराष्ट्रीय स्तर पर खाद की कीमतें बहुत ज्यादा बढ़ गई लेकिन किसानों के लिए समर्पित और संवेदनशील हमारी सरकार ने यह सुनिश्चित किया कि दुनिया में फर्टिलाइजर के दाम भले बढ़े लेकिन वह बोझ हम किसानों पर नहीं जाने देंगे।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।