कश्मीर में पुलिस ने टीआरएफ मॉड्यूल का भंडाफोड़ किया, आतंवादियों के चार सहयोगी गिरफ्तार

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  अक्टूबर 11, 2021   06:38
कश्मीर में पुलिस ने टीआरएफ मॉड्यूल का भंडाफोड़ किया, आतंवादियों के चार सहयोगी गिरफ्तार
प्रतिरूप फोटो

पुलिस के एक प्रवक्ता ने बताया ‘‘नापाक साजिश को अंजाम देने के लिए साजिश शाहगुंड, हाजिन इलाके के लश्कर-ए-तैयबा (टीआरएफ) मॉड्यूल द्वारा रची गई थी। मॉड्यूल ने लक्ष्य की पूरी तरह से रेकी की और उसकी सभी गतिविधियों पर करीब से नजर रखी गई।

श्रीनगर| पुलिस ने रविवार को कहा कि ‘द रेजिस्टेंस फ्रंट’ (टीआरएफ) के एक मॉड्यूल का भंडाफोड़ किया गया और पिछले हफ्ते मोहम्मद शफी लोन की हत्या की साजिश में शामिल आतंकवादियों के चारसहयोगियों को जम्मू-कश्मीर के बांदीपुर जिले में गिरफ्तार किया गया है।

पुलिस के एक प्रवक्ता ने कहा, ‘‘बांदीपुर पुलिस की एक विशेष टीम को मामले की जांच सौंपी गई थी और पूरी तरह से मानवीय और तकनीकी पुष्टि के बाद, टीआरएफ से जुड़े आतंकवादियों के चार सहयोगियों को गिरफ्तार करके मॉड्यूल का भंडाफोड़ किया गया।’’ उन्होंने बताया कि आतंकवादियों के गिरफ्तार सहयोगियों की पहचान तारिक अहमद डार उर्फ ​​तारिक खौचा, मोहम्मद शफी डार, मुदासिर हसन लोन और बिलाल अहमद डार उर्फ ​​साहेब खौचा के रूप में हुई है।

इसे भी पढ़ें: आईएसआईएस से संबंधों के आरोप में कश्मीर में तीन लोग गिरफ्तार : एनआईए

प्रवक्ता ने कहा, ‘‘हालांकि, हत्या में शामिल आतंकवादियों का एक सहयोगी फरार है और कथित तौर पर आतंकवादी समूह में शामिल हो गया है तथा उसकी पहचान इम्तियाज अहमद डार उर्फ ​​कोटरू के रूप में हुई है।’’

उन्होंने कहा कि जांच के दौरान यह सामने आया कि लोन की हत्या पाकिस्तान निवासी लश्कर-ए-तैयबा के हैंडलर लाला उमर के इशारे और निर्देश पर की गई। उन्होंने कहा, ‘‘नापाक साजिश को अंजाम देने के लिए साजिश शाहगुंड, हाजिन इलाके के लश्कर-ए-तैयबा (टीआरएफ) मॉड्यूल द्वारा रची गई थी। मॉड्यूल ने लक्ष्य की पूरी तरह से रेकी की और उसकी सभी गतिविधियों पर करीब से नजर रखी गई।

इसे भी पढ़ें: जम्मू कश्मीर में नागरिकों की हत्या के खिलाफ आप ने कैंडल मार्च निकाला





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।