प्रणब मुखर्जी बोले, राव ने सुधारों के माध्यम से भारत का नेतृत्व करने में साहस, संकल्प दिखाया

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जुलाई 25, 2020   10:19
प्रणब मुखर्जी बोले, राव ने सुधारों के माध्यम से भारत का नेतृत्व करने में साहस, संकल्प दिखाया

पीवी नरसिंह राव के जन्म शताब्दी समारोह के अवसर पर एक वीडियो संदेश में मुखर्जी ने कहा कि नरसिंह राव केवल अपने पैतृक राज्य तेलंगाना के नहीं थे बल्कि वह पूरे देश के थे और उम्मीद है कि भारत में अन्य स्थानों पर भी लोग उनकी जन्म शताब्दी मनाने के लिए प्रेरित होंगे।

नयी दिल्ली। पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने शुक्रवार को पूर्व प्रधानमंत्री पीवी नरसिंह राव को ऐसे महान नेता की संज्ञा दी जिन्होंने सुधारों के रास्ते देश का नेतृत्व करने में साहस और दृढ़संकल्प दिखाया। राव के जन्म शताब्दी समारोह के अवसर पर एक वीडियो संदेश में मुखर्जी ने कहा कि नरसिंह राव केवल अपने पैतृक राज्य तेलंगाना के नहीं थे बल्कि वह पूरे देश के थे और उम्मीद है कि भारत में अन्य स्थानों पर भी लोग उनकी जन्म शताब्दी मनाने के लिए प्रेरित होंगे। 

इसे भी पढ़ें: माटी के महान सपूत थे नरसिम्हा राव, वास्तव में उन्हें भारत में आर्थिक सुधारों का जनक कहा जा सकता है: मनमोहन

उन्होंने कहा, ‘‘मुझे खुशी है कि तेलंगाना प्रदेश कांग्रेस कमेटी द्वारा उनके जन्म शताब्दी समारोह का आयोजन किया जा रहा है। लेकिन मुझे विश्वास है कि अन्य लोग भी उनकी जन्म सदी मनाने के लिए प्रेरित होंगे क्योंकि वह पूरे भारत के थे और केवल अपने जन्म स्थान तेलंगाना के ही नहीं थे।’’ मुखर्जी ने कहा कि राव ऐसे नेता थे जिन्होंने उनके समेत कई लोगों को प्रेरित किया और वह उन कुछ नेताओं में शामिल थे जिन्होंने विभिन्न राजनीतिक विचारधाराओं के प्रशंसकों को आकर्षित किया। उन्होंने आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री के तौर पर भूमि सुधार लाने में और प्रधानमंत्री के तौर पर आर्थिक सुधारों के युग का सूत्रपात करने में राव के योगदान को याद किया।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।