मथुरा में जन्माष्टमी की तैयारियां जोरों पर, कोविड-19 नियमों के पालन के बीच मनाए जाएंगे त्योहार

mathura
मथुरा में कृष्ण जन्मोत्सव मनाने के लिए तैयारियां जोरों पर है। इस बार भी कोविड-19 नियमों के पालन के बीच त्योहार मनाए जाएंगे। समूचे ब्रज क्षेत्र में कृष्ण जन्मोत्सव को धूम धाम से मनाने की तैयारियां चल रही हैं। मथुरा में श्रीकृष्ण जन्मस्थान मंदिर परिसर में सबसे ज्यादा श्रद्धालु आते हैं।

मथुरा। मथुरा में श्रीकृष्ण का जन्मोत्सव इस वर्ष 29 से 31 अगस्त तक धूमधाम से मनाया जाएगा। इसके लिए जिले में इन दिनों हर घर, बाजार, मंदिर को भव्य तरीके से सजाया जा रहा है। पिछले साल कोरोना वायरस संक्रमण के चलते लॉकडाउन के बीच ही यह त्योहार मनाया गया था। इस बार भी कोविड-19 नियमों के पालन के बीच त्योहार मनाए जाएंगे। समूचे ब्रज क्षेत्र में कृष्ण जन्मोत्सव को धूम धाम से मनाने की तैयारियां चल रही हैं। मथुरा में श्रीकृष्ण जन्मस्थान मंदिर परिसर में सबसे ज्यादा श्रद्धालु आते हैं।

इसे भी पढ़ें: श्री कृष्ण जन्माष्टमी पर कई वर्षों बाद बन रहा है यह दुर्लभ संयोग

नन्दगांव में नन्दीश्वर पहाड़ी पर स्थित नन्दबाबा मंदिर में भी श्रावण पूर्णिमा से ही श्रीकृष्ण जन्म की बधाइयों का दौर शुरू हो गया है। नन्दभवन के सेवायत ब्रजेंद्र शरण गोस्वामी ने बताया कि इस बार सभी जगह एक ही दिन कृष्ण जन्मोत्सव मनाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि 30 अगस्त को जन्माष्टमी और 31 अगस्त को नन्दोत्सव मनाया जाएगा। श्रीकृष्णोत्सव-2021 को भव्य और दिव्य बनाने के लिए प्रशासन और नगर निगम मिल-जुल कर तैयारियां कर रहे हैं। इस दौरान विभिन्न कार्यक्रमों में सैकड़ों लोक कलाकार भी भाग लेंगे। सुरक्षा के हिसाब से श्रीकृष्ण जन्मस्थान परिसर सहित पूरे नगर को तीन जोन और 16 सेक्टर में बांटकर व्यापक व्यवस्था की गयी है। जिलाधिकारी नवनीत सिंह चहल एवं वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक गौरव ग्रोवर ने बताया कि जन्मस्थान परिसर को ‘रेड जोन’ घोषित करते हुए उसे भी ‘ए’ और ‘बी’ जोन में विभाजित किया गया है। संबंधित अधिकारियों को सुरक्षा की जिम्मेदारी सौंपी गयी है। इसी प्रकार, वृन्दावन के ठाकुर बांकेबिहारी मंदिर में भी व्यवस्था बनाए रखने के लिए श्रद्धालुओं को एक तरफ से प्रवेश कराया जाएगा तो दूसरी ओर से निकास की व्यवस्था रहेगी।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़