राष्ट्रपति का कानपुर दौरा: सुरक्षा विवरण लीक , जांच के आदेश

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  नवंबर 25, 2021   07:40
राष्ट्रपति का कानपुर दौरा: सुरक्षा विवरण  लीक , जांच के आदेश

पुलिस आयुक्त अरूण ने बताया कि जांच अधिकारी को दस्तावेज को सार्वजनिक करने के लिए जिम्मेदार लोगों की पहचान करने और इस काम के पीछे के तथ्यों और मंशा का पता लगाने के लिए कहा गया है।

कानपुर| राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद की दो दिवसीय कानपुर यात्रा के लिए सुरक्षा व्यवस्था के विवरण से जुड़ा दस्तावेज कुछ व्हाट्सएप ग्रुप में प्रसारित किए जाने पर पुलिस ने जांच के आदेश दिए हैं।

पुलिस ने बुधवार को बताया कि दस्तावेज जिसमें सुरक्षा के बारे में विस्तृत विवरण, बलों की तैनाती और कोविंद के शिरकत वाले स्थान जैसी जानकारियां थी, वरिष्ठ अधिकारियों को वितरित किया गया था, लेकिन यह कुछ व्हाट्सएप ग्रुपों पर प्रसारित पाया गया, जिसके बाद कानपुर के पुलिस आयुक्त असीम अरुण ने मामले की जांच के आदेश दियें हैं।

इसे भी पढ़ें: प्रधान न्यायाधीश ने राष्ट्रपति से मुलाकात कर संविधान दिवस समारोह में शामिल होने का निमंत्रण दिया

पुलिस आयुक्त अरूण ने बताया कि अपरपुलिस उपायुक्त (यातायात) राहुल मिठास को मामले की जांच करने और संबंधित ब्योरा जुटाने को कहा गया है।

उन्होंने बताया कि जांच अधिकारी को दस्तावेज को सार्वजनिक करने के लिए जिम्मेदार लोगों की पहचान करने और इस काम के पीछे के तथ्यों और मंशा का पता लगाने के लिए कहा गया है।

पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कुछ व्हाट्सएप ग्रुप पर मिली जानकारी में राष्ट्रपति को दी गई सुरक्षा, उनके बेड़े (फ्लीट), सभी स्थानों पर बलों की तैनाती और यहां तक कि सभी पुलिस कर्मियों के नाम, पदनाम और संपर्क नंबर और उनकी भूमिका का विवरण था।

राष्ट्रपति कोविंद बुधवार को शौर्य चक्र विजेता पूर्व सांसद चौधरी हरमोहन सिंह यादव के जन्मशती समारोह में दो दिवसीय दौरे पर यहां पहुंचे हैं।

इसे भी पढ़ें: संसद का शीतकालीन सत्र 29 नवंबर से

इससे पहले बुधवार को उत्तर प्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने चकेरी हवाईअड्डे पर उनका स्वागत किया. कोविंदबृहस्पतिवार कोहरकोर्ट बटलर टेक्निकल यूनिवर्सिटी के शताब्दी समारोह में शामिल होंगे।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।