ट्रैक्टर परेड के समर्थन में पंजाब की AAP इकाई ने निकाली मोटरबाइक रैलियां

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जनवरी 23, 2021   16:59
ट्रैक्टर परेड के समर्थन में पंजाब की AAP इकाई ने निकाली मोटरबाइक रैलियां

पंजाब के संगरूर, मोहाली और फरीदकोट समेत कई स्थानों पर मोटर बाइक रैलियां निकाली गईं। इसमें शामिल आप कार्यकर्ताओं ने हाथों में तख्तियां ले रखी थीं जिन पर लिखा था ‘‘किसान नहीं, भोजन नहीं’’ और ‘‘किसान मजदूर एकता जिंदाबाद’’।

चंडीगढ़। आम आदमी पार्टी (आप) की पंजाब इकाई ने दिल्ली में 26 जनवरी को प्रस्तावित किसानों की ट्रैक्टर परेड के लिए लोगों को प्रोत्साहित करने की खातिर शनिवार को राज्य के विभिन्न हिस्सों में मोटरबाइक रैलियां निकाली। पंजाब विधानसभा में विपक्ष के नेता हरपाल सिंह चीमा ने कहा कि गणतंत्र दिवस पर राष्ट्रीय राजधानी में किसानों की ट्रैक्टर परेड के लिए लोगों को प्रेरित करने की खातिर पार्टी के कार्यकर्ताओं ने राज्यभर में दो पहिया वाहन रैलियां निकालीं। पंजाब के संगरूर, मोहाली और फरीदकोट समेत कई स्थानों पर मोटर बाइक रैलियां निकाली गईं। इसमें शामिल आप कार्यकर्ताओं ने हाथों में तख्तियां ले रखी थीं जिन पर लिखा था ‘‘किसान नहीं, भोजन नहीं’’ और ‘‘किसान मजदूर एकता जिंदाबाद’’। आप पहले ही घोषणा कर चुकी है कि वह दिल्ली में किसानों की ट्रैक्टर परेड में शामिल होगी हालांकि ‘‘एक राजनीतिक दल के तौर पर नहीं।’’ 

इसे भी पढ़ें: पंजाब सरकार का बड़ा ऐलान, आंदोलन के दौरान मारे गए किसान परिवार के एक सदस्य को मिलेगी नौकरी

पंजाब में आप के विधायक और इस इकाई के पदाधिकारी ट्रैक्टर परेड में हिस्सा लेंगे। किसान नेताओं ने कहा है कि 26 जनवरी को ‘‘ट्रैक्टर परेड’’ योजना के अनुरूप निकाली जाएगी और किसान यूनियनों ने पुलिस से कहा है कि इस दौरान शांति बनाए रखने की जिम्मेदारी सरकार की है। गणतंत्र दिवस पर सुरक्षा का हवाला देकर पुलिस अधिकारियों ने किसान संगठनों के नेताओं से अनुरोध किया था कि वे दिल्ली से बाहर ट्रैक्टर परेड निकालें। किसान नेताओं ने कहा कि वे दिल्ली में बाहरी रिंग रोड पर ही परेड निकालेंगे। दिल्ली की सीमाओं पर प्रदर्शन कर रहे हजारों किसानों में बड़ी संख्या पंजाब, हरियाणा तथा पश्चिमी उत्तर प्रदेश के किसानों की है। किसान संगठनों का आरोप है कि नए कृषि कानूनों से मंडी और एमएसपी खरीद प्रणालियां समाप्त हो जाएंगी तथा किसान बड़े कॉरपोरेट घरानों की दया पर निर्भर हो जाएंगे।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।