पंजाब के राज्यपाल ने की दक्षिण कोरिया और भारत के बीच मजबूत संबंधों की वकालत

Punjab Gov
प्रतिरूप फोटो
Google Creative Commons
चंडीगढ़ के प्रशासक पुरोहित ने सांस्कृतिक आदान-प्रदान कार्यक्रमों के माध्यम से दोनों देशों में लोगों से लोगों के बीच संपर्क को बढ़ाने का भी सुझाव दिया। भारत में दक्षिण कोरिया के राजदूत चांग जे-बोक ने बुधवार शाम यहां पंजाब राजभवन में राज्यपाल से शिष्टाचार मुलाकात की।

पंजाब के राज्यपाल बनवारीलाल पुरोहित ने दक्षिण कोरिया और भारत के बीच मजबूत संबंधों की जरूरत पर बल दिया है। एक आधिकारिक बयान में यह जानकारी दी गयी। चंडीगढ़ के प्रशासक पुरोहित ने सांस्कृतिक आदान-प्रदान कार्यक्रमों के माध्यम से दोनों देशों में लोगों से लोगों के बीच संपर्क को बढ़ाने का भी सुझाव दिया। भारत में दक्षिण कोरिया के राजदूत चांग जे-बोक ने बुधवार शाम यहां पंजाब राजभवन में राज्यपाल से शिष्टाचार मुलाकात की।

पुरोहित ने राजदूत चांग जे-बोक के नेतृत्व में आए कोरियाई प्रतिनिधिमंडल का गर्मजोशी से स्वागत करते हुए, उन्हें कारोबार करने में आसानी और पंजाब में निवेश के लिए एक मंजूरी प्रणाली से अवगत कराया। उन्होंने कहा कि कोरियाई विनिर्माण उद्योग को पंजाब में अपनी इकाइयां स्थापित करने के लिए बहुत उपयुक्त वातावरण मिलेगा।

राजभवन की ओर से जारी बयान के अनुसार, पुरोहित ने पंजाब और चंडीगढ़ में संयुक्त उद्यम स्थापित करके और व्यापारिक संबंध बनाकर दक्षिण कोरिया को मेक इन इंडिया पहल का प्रमुख भागीदार बनने के लिए भी आमंत्रित किया। कोरियाई राजदूत ने दोनों देशों के बीच सांस्कृतिक और शैक्षिक आदान-प्रदान कार्यक्रमों को बढ़ावा देने पर जोर दिया।

राज्यपाल ने उत्तर क्षेत्र सांस्कृतिक केंद्र (एनजेडसीसी) के अध्यक्ष के रूप में भारत के पांच उत्तरी राज्यों से सांस्कृतिक मंडलों की सुविधा का आश्वासन दिया। राजदूत ने दक्षिण कोरिया में पढ़ रहे विभिन्न भारतीय छात्रों को दी जा रही छात्रवृत्ति का भी उल्लेख किया। राजदूत ने राज्यपाल को बताया कि दक्षिण कोरिया और भारतीय राज्यों के बीच समझ बढ़ाने के उद्देश्य से कोरियाई दूतावास चंडीगढ़ में कोरिया ऑन द मूव की मेजबानी कर रहा है।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़