कोयंबटूर में राहुल ने किया रोड शो, बोले- प्रधानमंत्री को तमिल संस्कृति, भाषा और लोगों का नहीं है सम्मान

कोयंबटूर में राहुल ने किया रोड शो, बोले- प्रधानमंत्री को तमिल संस्कृति, भाषा और लोगों का नहीं है सम्मान

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा कि अर्थव्यवस्था के विकास के लिए सामंजस्य की जरूरत होती है, मौजूदा सरकार ने सब जगह बड़े स्तर पर असामंजस्य पैदा किया। मुझे लगता है कि बीजेपी का जो माइंडसेट है उसके साथ हमें अर्थव्यवस्था की इस स्थिति से बाहर निकालना बहुत मुश्किल होगा।

चेन्नई। पांच राज्यों में होने वाले विधानसभा चुनाव को लेकर राजनीतिक दलों ने अपनी-अपनी कमर कस ली है। इसी बीच कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष और वायनाड सांसद राहुल गांधी एक बार फिर से तमिलनाडु दौरे पर हैं। कोयंबटूर में राहुल गांधी ने रोड शो किया और फिर लोगों को संबोधित करते हुए केंद्र की मोदी सरकार पर जमकर हमला बोला। उन्होंने कहा कि नरेंद्र मोदी जी को तमिलनाडु की संस्कृति, भाषा और लोगों का कोई सम्मान नहीं है। वह सोचते हैं कि तमिल जनता, भाषा और संस्कृति को उनके विचारों और संस्कृति के अधीन होना चाहिए। 

इसे भी पढ़ें: राहुल गांधी ने कर्नाटक विस्फोट पर जताया दुख, बोले- इस तरह की घटनाओं की होनी चाहिए गहन जांच 

विकास के लिए सामंजस्य की जरूरत

कांग्रेस सांसद ने कहा कि अर्थव्यवस्था के विकास के लिए सामंजस्य की जरूरत होती है, मौजूदा सरकार ने सब जगह बड़े स्तर पर असामंजस्य पैदा किया। मुझे लगता है कि बीजेपी का जो माइंडसेट है उसके साथ हमें अर्थव्यवस्था की इस स्थिति से बाहर निकालना बहुत मुश्किल होगा। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक उन्होंने कहा कि भारतीय बैंकिंग सिस्टम पर 10-15 उद्योगपतियों का कब्ज़ा है। भारत अपने लोगों को नौकरी देने में असमर्थ है, हमारी अर्थव्यवस्था तबाह हो चुकी है और हम इससे जल्दी बाहर नहीं निकलेंगे क्योंकि सरकार उन लोगों को नहीं सुनना चाहती है जो देश को आगे बढ़ाने में मदद करते हैं।

इसे भी पढ़ें: कृषि कानूनों को लेकर राहुल गांधी ने सरकार पर साधा निशाना, कहा- सीधे-सीधे रद्द करे कानून 

इससे पहले राहुल गांधी ने ट्विटर पर एक वीडियो साधा किया और लिखा कि एक बार फिर से तमिलनाडु आकर मुझे खुशी हो रही है। मुझे कोंगु बेल्ट के अपने तमिल भाईयों और बहनों के साथ समय बिताने का मौका मिला है। हम साथ मिलकर तमिलनाडु की संस्कृति को मोदी सरकार के हमलों से बचाएंगे।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।