Odisha Train Accident पर आया रेलवे बोर्ड का बयान, कहा- तीन नहीं सिर्फ कोरोमंडल एक्सप्रेस हुई हादसे का शिकार

railway board
ANI Image

रेलवे बोर्ड की सदस्य जया वर्मा सिन्हा ने रविवार को इस घटना को लेकर बड़ी जानकारी साझा की है। उन्होंने बताया कि इस भीषण ट्रेन हादसे में तीन ट्रेनों की टक्कर नहीं हुई है बल्कि एक ही ट्रेन की टक्कर हुई है। इस दौरान सिर्फ कोरोमंडल एक्सप्रेस ट्रेन ही हादसे का शिकार हुई है।

ओडिशा के बालासोर जिले के बाहनगा बाजार में शुक्रवार को हुए रेल हादसे में 275 लोगों की मौत होने की जानकारी रविवार को रेलवे विभाग ने दी है। इस घटना के बाद पहली बार रेलवे विभाग ने रविवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस की। इस कॉन्फ्रेंस में उन्होंने हर मामले की विस्तृत जानकारी दी है।

रेलवे बोर्ड की सदस्य जया वर्मा सिन्हा ने रविवार को इस घटना को लेकर बड़ी जानकारी साझा की है। उन्होंने बताया कि इस भीषण ट्रेन हादसे में तीन ट्रेनों की टक्कर नहीं हुई है बल्कि एक ही ट्रेन की टक्कर हुई है। इस दौरान सिर्फ कोरोमंडल एक्सप्रेस ट्रेन ही हादसे का शिकार हुई है। बता दें कि शुक्रवार को शाम 6.55 मिनट पर इस ट्रेन का हादसा हुआ है जहां बहानागा स्टेशन पर चार लाइनें है। इनमें दो मेन लाइनें है। जानकारी के मुताबिक लूप लाइन पर मालगाड़ी खड़ी थी। स्टेशन पर ड्राइवर को ग्रीन सिग्नल दिया गया था। दोनों गाड़ियों की गति अपनी पूरी थी। शुरुआती जांच में संभावना है कि सिग्नल में गड़बड़ी के कारण ये घटना हुई है। 

इस कॉन्फ्रेंस के दौरान जया वर्मा ने बताया कि दो मेल एक्सप्रेस गाड़ियों को पास होना ता। एक गाड़ी आयरन से लदी थी। वहीं यसवंत नगर एक्सप्रेस और कोरोमंडर एक्सप्रेस के लिए भी सिग्नल ग्रीन थे। इस दौरान सिग्नल में गड़बड़ी हो गई। हालांकि ये सिर्फ शुरुआती जांच में सामने आया है। इस मामले पर जांच जारी है। इसके लिए विस्तृत रिपोर्ट का इंतजार किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि हादसे का शिकार सिर्फ एक ट्रेन हुई है जबकि अन्य ट्रेनें इम्पैक्ट के कारण इसकी चपेट में आई है।

पटरियों की मरम्मत का हो रहा काम

ओडिशा के बालासोर जिले के बाहानगा बाजार में शुक्रवार को हुए भीषण रेल हादसे के बाद बुलडोजर और क्रेन की मदद से रातभर में अधिकतर रेल पटरियों से रेलगाड़ियों के क्षतिग्रस्त डिब्बों को हटा दिया गया और पटरियों की मरम्मत का काम जारी है, ताकि पूर्वी एवं दक्षिण भारत को जोड़ने वाली मुख्य ट्रंक लाइन पर रेल सेवा बहाल की जा सके। रेलवे अधिकारियों ने रविवार को यह जानकारी दी। अधिकारियों ने बताया कि हादसे के दौरान टूटी इलेक्ट्रिक लाइन और पटरियों की मरम्मत का काम भी जारी है। केंद्रीय मंत्रियों अश्विनी वैष्णव और धर्मेंद्र प्रधान ने रविवार तड़के दुर्घटनास्थल का दौरा किया। वैष्णव ने कहा, ‘‘मरम्मत का काम तेज गति से आगे बढ़ रहा है।... एकल लाइन पटरी का काम, सिग्नल प्रणाली का काम लगभग पूरा हो चुका है। एक पटरी के ऊपर बिजली के तारों की मरम्मत का काम जारी है। इसे भी जल्द पूरा कर लिया जाएगा।’’ 

All the updates here:

अन्य न्यूज़