आर्थिक आधार पर दिए गए आरक्षण पर बोले राजनाथ, समतामूलक समाज चाहते थे आंबेडकर

By प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क | Publish Date: Jan 21 2019 9:44AM
आर्थिक आधार पर दिए गए आरक्षण पर बोले राजनाथ, समतामूलक समाज चाहते थे आंबेडकर
Image Source: Google

भाजपा के अनुसूचित जाति (एससी) मोर्चा के राष्ट्रीय सम्मेलन के समापन समारोह को संबोधित करते हुए राजनाथ ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने समतामूलक समाज के आंबेडकर के सपने को पूरा करने के लिए नया आरक्षण लागू किया है।

 नागपुर। कांग्रेस पर बाबा साहेब भीमराव आंबेडकर के नाम पर दलितों के वोट हासिल करने की कोशिश करने का आरोप लगाते हुए केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने रविवार को कहा कि सामान्य श्रेणी के गरीबों को आर्थिक आधार पर 10 फीसदी आरक्षण देने संबंधी नया कानून हर तबके का विकास सुनिश्चित करने की मोदी सरकार की प्रतिबद्धता के अनुरूप है। समाज के कुछ तबकों ने सामान्य वर्ग के गरीबों को आर्थिक आधार पर आरक्षण देने का विरोध किया है। उनका कहना है कि यह संविधान के प्रावधानों के खिलाफ है।

 


भाजपा के अनुसूचित जाति (एससी) मोर्चा के राष्ट्रीय सम्मेलन के समापन समारोह को संबोधित करते हुए राजनाथ ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने समतामूलक समाज के आंबेडकर के सपने को पूरा करने के लिए नया आरक्षण लागू किया है। राजनाथ ने कहा, ‘‘बाबासाहेब आंबेडकर ने स्वतंत्रता, समानता एवं बंधुत्व की बातें की थी। उन्होंने गुणवत्ता सुनिश्चित करने के लिए संविधान में आरक्षण को शामिल किया और आर्थिक एवं सामाजिक तौर पर पिछड़े लोगों को आरक्षण की सुविधा दी गई। आंबेडकर का सपना समानता सुनिश्चित करना था।’’ 
 
 
गृह मंत्री ने यह भी कहा कि जिन्हें आरक्षण का लाभ नहीं मिल पाया और देश के विकास में योगदान करने में सक्षम लेकिन आर्थिक तौर पर पिछड़ों को भी आरक्षण मिलना चाहिए। उन्होंने कहा, ‘‘इसी उद्देश्य से प्रधानमंत्री ने ‘सबका साथ, सबका विकास’ के लक्ष्य को पूरा करने के लिए 10 फीसदी आरक्षण दिया।’’ कांग्रेस पर हमला बोलते हुए भाजपा के वरिष्ठ नेता ने कहा कि मोदी के शासनकाल में भारत दुनिया में सबसे तेजी से बढ़ती अर्थव्यवस्था बन गया और इस ‘‘सच्चाई’’ को दुनिया के अर्थशास्त्रियों द्वारा स्वीकार किया गया है।
 


रहना है हर खबर से अपडेट तो तुरंत डाउनलोड करें प्रभासाक्षी एंड्रॉयड ऐप   


Related Story

Related Video