रामविलास पासवान ने राज्यसभा उपचुनाव के लिए दाखिल किया नामांकन पत्र

ram-vilas-paswan-files-nomination-papers-for-rajya-sabha-bypoll
राज्यसभा की इस सीट पर उपचुनाव पासवान के कैबिनेट सहयोगी एवं भाजपा नेता रविशंकर प्रसाद के लोकसभा के लिए निर्वाचित होने के बाद अपनी सीट छोड़ने के बाद कराना जरूरी हो गया था।

पटना। केंद्रीय मंत्री एवं लोक जनशक्ति पार्टी (लोजपा) प्रमुख रामविलास पासवान ने बिहार में राज्यसभा उपचुनाव के लिए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की मौजूदगी में नामांकन पत्र दाखिल किया। राज्यसभा की इस सीट पर उपचुनाव पासवान के कैबिनेट सहयोगी एवं भाजपा नेता रविशंकर प्रसाद के लोकसभा के लिए निर्वाचित होने के बाद अपनी सीट छोड़ने के बाद कराना जरूरी हो गया था। पासवान करीब दोपहर में राजधानी दिल्ली से यहां पहुंचे और सीधे अपनी पार्टी के प्रदेश मुख्यालय गए जहां से वह राज्य विधानसभा परिसर पहुंचे। नीतीश कुमार के अलावा, पासवान के साथ केंद्रीय गृह राज्य मंत्री एवं प्रदेश भाजपा प्रमुख नित्यानंद राय विधानसभा परिसर पहुंचे जहां लोजपा प्रमुख ने अपना नामांकन पत्र दाखिल किया।

इसे भी पढ़ें: माकपा की केरल इकाई के सचिव के बेटे पर रेप का मामला दर्ज

इसे कवर करने के लिए विधानसभा सचिव के चैंबर में बड़ी संख्या में फोटो और वीडियो पत्रकार मौजूद थे, भारी भीड़ के चलते मुख्यमंत्री भड़क गए और संवाददाताओं से कहा कि मर्यादा बनाये रखें। सुरक्षाकर्मियों ने बाद में संवाददाताओं को वहां से हटा दिया। पासवान हाल में सम्पन्न लोकसभा चुनाव नहीं लड़े थे। उन्होंने अपनी पारंपरिक हाजीपुर सीट से अपने छोटे भाई पशुपति कुमार पारस को लड़ाया जिन्होंने लोजपा के लिए यह सीट बरकरार रखी। पासवान को 30 मई को नरेंद्र मोदी कैबिनेट में फिर से शामिल कर लिया गया था।

इसे भी पढ़ें: लोजपा से असंतुष्ट नेताओं ने नया दल बनाया ! पासवान बोले- उन्हें जाने दीजिए

प्रसाद पिछले वर्ष लगातार तीसरी बार राज्यसभा के लिए चुने गए थे। उन्होंने पटना साहिब सीट से लोकसभा के लिए निर्वाचित होने के बाद ऊपरी सदन से इस्तीफा दे दिया था। राज्यसभा उपचुनाव के लिए नामांकन दाखिल करने की अंतिम तिथि 25 जून है। राज्यसभा के लिए उपचुनाव तीन राज्यों में हो रहा है। नामांकन पत्रों की जांच अगले दिन 26 जून को होगी। नामांकन वापस लेने की अंतिम तिथि 28 जून है जबकि मतदान और मतगणना पांच जुलाई को होगी। बिहार में राजग को राज्य विधानसभा में पर्याप्त बहुमत है और राज्यसभा के लिए पासवान का निर्वाचित होना लगभग तय माना जा रहा है। 

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़