गुजरात स्टेडियम से सरदार पटेल का नाम हटाना प्रत्येक भारतीय का अपमान : कांग्रेस

Gujarat
कांग्रेस ने बुधवार को कहा कि अहमदाबाद स्थित गुजरात स्टेडियम की मरम्मत के बाद उसके नाम से सरदार पटेल का नाम हटाकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नाम पर रखना ‘‘प्रत्येक भारतीय का अपमान है।’’

नयी दिल्ली। कांग्रेस ने बुधवार को कहा कि अहमदाबाद स्थित गुजरात स्टेडियम की मरम्मत के बाद उसके नाम से सरदार पटेल का नाम हटाकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नाम पर रखना ‘‘प्रत्येक भारतीय का अपमान है।’’ विपक्षी पार्टी ने कहा कि भाजपा कभी ‘‘गेंम चेंजर (बदलाव लाने वाली)’’ नहीं रही है वह हमेशा ‘‘नेम चेंजर (नाम बदलने वाली)’’ रही है। सरकार ने हालांकि इस फैसले का बचाव करते हुए कहा कि पूरे खेल परिसर का नाम अभी भी देश के पहले गृह मंत्री सरदार वल्लभ भाई पटेल के नाम पर ही रहेगा।

इसे भी पढ़ें: न्यायाधीश ने रॉबर्ट वाड्रा से जुड़े धनशोधन मामले की सुनवाई से खुद को किया अलग

इस पर चुटकी लेते हुए कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने एक बार फिर ‘हम दो, हमारे दो’ का जिक्र करते हुए दावा किया कि सच्चाई बाहर आ गई है कि स्टेडियम को प्रधानमंत्री का नाम दिया गया है और दो अन्य को कॉरपारेट हाउसों का नाम दिया गया है और क्रिकेट प्रशासन में अमित शाह का बेटा शामिल रहा है। गांधी ने ट्वीट किया, ‘‘सच्चाई कैसे सामने आती है, बहुत खूबसूरत है। नरेंद्र मोदी स्टेडियम... अडानी और अंबानी एंड। जय शाह की अध्यक्षता।’’

इसे भी पढ़ें: केरल के अलप्पुझा में दो समूहों के बीच हुई झड़प में RSS कार्यकर्ता की मौत

कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने ट्वीट किया है, ‘‘संदेह से परे साबित हो गया है... भाजपा कभी ‘गेम चेंजर’ नहीं हो सकती, भाजपा सिर्फ ‘नेम चेंजर’ हो सकती है।’’ मीडिया से बातचीत में कांग्रेस प्रवक्ता पवन खेड़ा ने कहा कि आज अगर कोई एक व्यक्ति बहुत दुखी होगा तो वह हैं पूर्व उप प्रधानमंत्री लाल कृष्ण आडवाणी। भाजपा पर चुटकी लेते हुए खेड़ा ने कहा कि वह सोच रहे होंगे उन्होंने उपप्रधानमंत्री रहते हुए कुछ परियोजनाओं, कुछ स्टेडियम और राजमार्गों के नाम अपने नाम पर क्यों नहीं रख लिए थे।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़