Republic Day: आठ दिनों के लिए दिल्ली में हवाई क्षेत्र रहेगा प्रतिबंधित, उड़ानों पर पड़ेगा असर

air space
ANI
अंकित सिंह । Jan 19, 2023 12:23PM
नोटिस टू एयर मैन के मुताबिक इस दौरान अनुसूचित एयर लाइनों की गैर अनुसूचित उड़ानों और चार्टर्ड उड़ानों को दिल्ली हवाई अड्डे पर उड़ान भरने या उतरने की अनुमति नहीं होगी। हालांकि जो निर्धारित उड़ानें होंगी उस पर इसका ज्यादा प्रभाव नहीं पड़ेगा।

राजधानी दिल्ली में गणतंत्र दिवस की तैयारियां जोरों पर चल रही है। गणतंत्र दिवस परेड को लेकर दिल्ली में कई तरह के प्रतिबंध भी लागू कर दिए गए हैं। इसी कड़ी में राष्ट्रीय राजधानी में हवाई क्षेत्र पर भी प्रतिबंध लागू रहेगा। दिल्ली में हवाई क्षेत्र पर प्रतिबंध 19 से 24 जनवरी के साथ-साथ 26 से 29 जनवरी के बीच लागू रहेगा। यह प्रतिबंध रोजाना 10:00 बजे से शुरू होगा और 13:15 तक लागू रहेगा। नोटिस टू एयर मैन के मुताबिक इस दौरान अनुसूचित एयर लाइनों की गैर अनुसूचित उड़ानों और चार्टर्ड उड़ानों को दिल्ली हवाई अड्डे पर उड़ान भरने या उतरने की अनुमति नहीं होगी। हालांकि जो निर्धारित उड़ानें होंगी उस पर इसका ज्यादा प्रभाव नहीं पड़ेगा। 

इसे भी पढ़ें: Ayodhya: राम मंदिर पर आतंकी हमले की साजिश, खुफिया एजेंसियों ने जारी किया अलर्ट

26 जनवरी को गणतंत्र दिवस के अवसर पर 08.30 घंटे से 13.00 बजे तक और 15.00 घंटे से 18.00 बजे तक किसी भी फ्लाइट को उड़ान भरने या लैंड करने की अनुमति नहीं होगी। भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण (एएआई) द्वारा जारी NOTAM के अनुसार, बीटिंग द रिट्रीट समारोह के दिन 29 जनवरी को 1500 बजे से 1900 बजे तक दिल्ली हवाई अड्डे पर किसी भी उड़ान के उतरने या उड़ान भरने की अनुमति नहीं होगी। NOTAM का ये आदेश भारतीय वायुसेना, बीएसएफ, सेना के उड्डयन हेलीकॉप्टर संचालन के साथ-साथ राज्य के स्वामित्व वाले विमान/हेलीकॉप्टर जो किसी राज्य के राज्यपाल/मुख्यमंत्री के साथ उड़ान भर रहे हैं, पर कोई प्रभाव नहीं पड़ेगा।

इसे भी पढ़ें: Republic Day 2023: गणतंत्र दिवस परेड देखने की है चाहत, तो बिना किसी परेशानी के ऐसे बुक कर सकते हैं टिकट, जानें प्रॉसेस

50 विमान लेंगे हिस्सा: वायुसेना

राजधानी दिल्ली के कर्तव्य पथ पर आयोजित होने वाले गणतंत्र दिवस समारोह में इस बार नौसेना के नौ राफेल और आईएल-38 समेत कुल 50 विमान हिस्सा लेंगे। भारतीय वायुसेना (आईएएफ) के एक वरिष्ठ अधिकारी ने यह जानकारी दी। अधिकारी ने कहा कि नौसेना के आईएल-38 विमान को इस बार संभवत: पहली और अंतिम बार प्रदर्शित किया जाएगा। वायुसेना के अधिकारी ने कहा कि आईएल-38 भारतीय नौसेना का एक समुद्री टोही विमान है, जो देश में लगभग 42 वर्षों से सेवा में शामिल है।

अन्य न्यूज़