अटारी वाघा बॉर्डर पर गणतंत्र दिवस की धूम, भारत-पाक सेना अधिकारियों ने एक दूसरे को दी मिठाई, देखें वीडियो

Attari Wagah border
रेनू तिवारी । Jan 26, 2022 11:14AM
26 जनवरी का दिन गौरवान्वित करने वाला दिन होता है। देश 26 जनवरी 1950 को भारत के संविधान के लागू होने की तारीख को चिह्नित करता है और मनाता है, भारत सरकार अधिनियम (1935) को भारत के शासी दस्तावेज के रूप में बदल देता है और इस प्रकार भारत एक नवगठित गणराज्य में राष्ट्र बना था।

भारत के लिए 26 जनवरी का दिन गौरवान्वित करने वाला दिन होता है।  देश 26 जनवरी 1950 को भारत के संविधान के लागू होने की तारीख को चिह्नित करता है और मनाता है, भारत सरकार अधिनियम (1935) को भारत के शासी दस्तावेज के रूप में बदल देता है और इस प्रकार भारत एक नवगठित गणराज्य में राष्ट्र बना था। भारत हर साल इस दिन को बहुत की धूमधाम से बनाता है। राजपथ पर भव्य तरीके से परेड का आयोजन किया जाता है। भारत आज अपना 73वां गणतंत्र दिवस मना रहा है और इस खास मौके को एक तस्वीर और खास बनाती है वो है अटारी वाघा बॉर्डर से आयी तस्वीर। भारत के 73वें गणतंत्र दिवस पर जेसीपी अटारी में सीमा सुरक्षा बल और पाकिस्तान रेंजर्स ने मिठाइयों और शुभकामनाओं का आदान-प्रदान किया। पाकिस्तान  जर्स ने भारती बीएसएफ अधिकारियों को गणतंत्र दिवस की शुभकामनाएं दी। 

 

इसे भी पढ़ें: भारत के 73वें गणतंत्र दिवस पर गूगल ने अपने डूडल में राजपथ परेड को किया प्रदर्शित

 

तस्वीरों मे देखा जा सकता है कि कैसे दोनों देश के अधिकारी आपस में एक दूसरे से मिठाइयों का आदान प्रदान कर रहे हैं। भारत जब आजाद हुआ था तक भारत से अलग होकर पाकिस्तान बना था। दोनों देशों के बीच अच्छे संबंध नहीं है लेकिन इस तहर की तस्वीरें काफी राहत देती है।  पिछले बार गणतंत्र दिवस के मौके पर बीएसएफ ने पाकिस्तान रेंजर्स के अधिकारियों के साथ मिठाई का आदान-प्रदान नहीं किया था। दोनों देशों के बीच खराब हुए द्विपक्षीय सबंधों के कारण बीएसएफ ने ये कदम उठाया था।

मुख्य गणतंत्र दिवस समारोह भारत के राष्ट्रपति के समक्ष राजपथ पर राष्ट्रीय राजधानी, नई दिल्ली में आयोजित किया जाता है। इस दिन, राजपथ पर औपचारिक परेड होती है, जो भारत में विविधता में इसकी एकता और समृद्ध सांस्कृतिक विरासत का प्रतीक होती है।

नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़