भारत के 73वें गणतंत्र दिवस पर गूगल ने अपने डूडल में राजपथ परेड को किया प्रदर्शित

Google
भारत के 73वें गणतंत्र दिवस पर सर्च इंजन गूगल ने अपने डूडल में हाथी, ऊंट सैक्सोफोन सहित राजपथ पर 26 जनवरी को होने वाली परेड से जुड़ी कई झलकियां दिखाने की कोशिश की। इस डूडल में कई जानवर, पक्षी और वाद्ययंत्र नजर आ रहे हैं और गूगल के अंग्रेजी हिज्जे के ‘ई’ को तिरंगे के रंग में रंगा गया है।

नयी दिल्ली। भारत के 73वें गणतंत्र दिवस पर सर्च इंजन ‘गूगल’ ने अपने डूडल में हाथी, ऊंट और सैक्सोफोन सहित राजपथ पर 26 जनवरी को होने वाली परेड से जुड़ी कई झलकियां दिखाने की कोशिश की। इस डूडल में कई जानवर, पक्षी और वाद्ययंत्र नजर आ रहे हैं और गूगल के अंग्रेजी हिज्जे के ‘ई’ को तिरंगे के रंग में रंगा गया है। कम्पनी ने एक बयान में कहा, ‘‘ आज का डूडल भारतीय संविधान लागू होने के 72 साल पूरे होने पर भारत के गणतंत्र दिवस का जश्न मनाता है...इस दौरान राष्ट्र ने एक स्वतंत्र गणराज्य के रूप में कई परिवर्तन देखे।’’

इसे भी पढ़ें: महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने गणतंत्र दिवस की शुभकामनाएं दीं, राष्ट्रध्वज फहराया

बयान में कहा गया, ‘‘भारतीय संविधान को 26 नवंबर, 1949 को अपनाया गया था और आज के दिन आधिकारिक तौर पर 1950 में इसे लागू किया गया, जब भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस ने ‘पूर्ण स्वराज’ या ‘पूर्ण स्वतंत्रता’ की घोषणा की थी।’’ डूडल में परेड के प्रमुख आकर्षकों को दिखाने की कोशिश की गई है, जिसमें गूगल के अंग्रेजी हिज्जे के हर अक्षर को अलग रूप दिया गया है। इसमें ‘जी’ में हाथी, ऊंट, घोड़ा और कुत्ता दिखाया गया है। ये सभी जानवर परेड में नजर आते हैं।

इसे भी पढ़ें: नेशनल वॉर मेमोरियल में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शहीदों को दी श्रद्धांजलि, तीनों सेना प्रमुखों सहित मौजूदा सभी ने रखा मौन

‘ओ’ अक्षर में तबला और ‘जी’ में सैक्सोफोन नजर आ रहा है। इन संगीत वाद्ययंत्रों का इस्तेमाल परेड में सेना की कई टुकड़ियों के बैंड द्वारा किया जाता है। ‘एल’ अक्षर के आसपास शांति के प्रतीक के रूप में दो सफेद कबूतर उड़ते नजर आ रहे हैं। वहीं, ‘ई’ को तिरंगे के रंग में रंगा गया है। गूगल ने 2021 में, गणतंत्र दिवस को चिह्नित करने के लिए डूडल में भारत के जीवंत रंगों, कला, संस्कृति, परिधान एवं विरासत को दिखाया था।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़