सचिन पायलट का दावा, अपनी एकजुटता के कारण 2023 में राजस्थान में फिर सरकार बनाएगी कांग्रेस

सचिन पायलट का दावा, अपनी एकजुटता के कारण 2023 में राजस्थान में फिर सरकार बनाएगी कांग्रेस

राजस्थान में मंत्रियों के शपथ लेने से पहले सचिन पायलट ने मीडिया से बात की और कहा कि राज्य सरकार और पार्टी दलितों, पिछड़े और गरीबों के लिए प्रतिनिधित्व चाहती है। लंबे समय से हमारी सरकार में दलित प्रतिनिधित्व नहीं था, अब इसकी भरपाई हो गई है और उन्हें अच्छी संख्या में शामिल किया गया है।

मीडिया को संबोधित करते हुए सचिन पायलट ने कहा कि नई कैबिनेट सूची एक अच्छा संदेश देती है। उन्होंने कहा, हमारे दलित और आदिवासी भाइयों और बहनों को उचित प्रतिनिधित्व मिला है। यह बहुत अच्छी बात है। उन्होंने कैबिनेट में फेरबदल के लिए सोनिया गांधी, अजय माकन और अशोक गहलोत को भी धन्यवाद दिया। 

राजस्थान में मंत्रियों के शपथ लेने से पहले सचिन पायलट ने मीडिया से बात की और कहा कि राज्य सरकार और पार्टी दलितों, पिछड़े और गरीबों के लिए प्रतिनिधित्व चाहती है। लंबे समय से हमारी सरकार में दलित प्रतिनिधित्व नहीं था, अब इसकी भरपाई हो गई है और उन्हें अच्छी संख्या में शामिल किया गया है। इसमें आदिवासियों का प्रतिनिधित्व भी शामिल है। मुझे लगता है कि यह एक आवश्यक कदम था जिसे कांग्रेस और राज्य सरकार ने आगे बढ़ाया है।

 

इसे भी पढ़ें: अब टीकाकरण की स्थिति का भी पता लगाएगा CoWIN ऐप,जानिए कैसे करेंगे ऐप का प्रयोग

उन्होंने कहा कि नए मंत्रियों के शपथ लेने के बाद पार्टी और नेतृत्व द्वारा उठाया गया कदम पूरे राज्य में सकारात्मक संदेश देगा। हमने इस मुद्दे को बार-बार उठाया था। मुझे खुशी है कि पार्टी, आलाकमान और राज्य सरकार ने इसका संज्ञान लिया। सचिन पायलट में अपने संबोधन में यह भी दावा किया कि राजस्थान में 2023 में भी कांग्रेस की सरकार बनेगी। उन्होंने पार्टी द्वारा की गयी इस नयी पहल को उन्होंने बहुत सकारात्मक बताया। 

राजस्थान कांग्रेस प्रमुख गोविंद सिंह डोटासरा, जिन्होंने दो अन्य मंत्रियों के साथ शुक्रवार को राज्य मंत्रिमंडल से इस्तीफा दे दिया, ने नए मंत्रियों के नामों की पुष्टि की जो आज एक ट्वीट में शपथ लेंगे। बसपा विधायक संदीप यादव ने राजस्थान के नए मंत्रियों की सूची में शामिल नहीं होने के बाद खुद को व्यक्त करने के लिए सोशल मीडिया का सहारा लिया।

इसे भी पढ़ें: तस्करी के जुर्म में आठ साल कैद की सजा पाने वाली मॉडल को रिहा किया गया

राजस्थान में अशोक गहलोत के नेतृत्व वाले मंत्रिमंडल में फेरबदल के तहत 15 विधायकों को रविवार को मंत्री पद की शपथ दिलाई जाएगी। इसमें 11 कैबिनेट और चार राज्य मंत्री होंगे। मुख्यमंत्री कार्यालय (सीएमओ) द्वारा जारी सूची के अनुसार कैबिनेट मंत्री के रूप में हेमाराम चौधरी, महेंद्रजीत मालवीय, रामलाल जाट, महेश जोशी, विश्वेंद्र सिंह, रमेश मीणा, ममता भूपेश, भजनलाल जाटव, टीकाराम जूली, गोविंद राम मेघवाल व शकुंतला रावत को शपथ दिलाई जाएगी। वहीं, विधायक जाहिदा खान, बृजेंद्र ओला, राजेंद्र गुढ़ा व मुरारीलाल मीणा को राज्यमंत्री के रूप में शपथ दिलाई जाएगी। इनमें ममता भूपेश, भजनलाल जाटव व टीकाराम जूली इस समय राज्यमंत्री हैं।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...