संगरूर लोकसभा उपचुनाव : शिअद अमृतसर प्रत्याशी सिमरनजीत सिंह मान को मिली जीत, आप को झटका

Simranjit Singh Mann
ANI
पंजाब की संगरूर लोकसभा सीट के लिए हुए उपचुनाव में शिरोमणि अकाली दल (अमृतसर) के प्रत्याशी सिमरनजीत सिंह मान ने रविवार को जीत दर्ज की। उन्होंने अपने निकटतम प्रतिद्वंद्वी व राज्य में सत्तारूढ़ आम आदमी पार्टी (आप) के उम्मीदवार गुरमेल सिंह को 5,822 मतों से हराया।

चंडीगढ़। पंजाब की संगरूर लोकसभा सीट के लिए हुए उपचुनाव में शिरोमणि अकाली दल (अमृतसर) के प्रत्याशी सिमरनजीत सिंह मान ने रविवार को जीत दर्ज की। उन्होंने अपने निकटतम प्रतिद्वंद्वी व राज्य में सत्तारूढ़ आम आदमी पार्टी (आप) के उम्मीदवार गुरमेल सिंह को 5,822 मतों से हराया। ‘आप’ अपनी यह सीट बचाने में असफल रही जहां से भगवंत मान को लगातार दो बार जीत मिली थी। यह नतीजा राज्य विधानसभा चुनाव में आप को शानदार जीत मिलने के महज तीन महीने बाद आया है। संगरूर में ‘आप’ को ऐसे समय हार मिली है जब वह पड़ोसी हिमाचल प्रदेश में होने वाले विधानसभा चुनाव के लिए आक्रामक तरीके से प्रचार कर रही है।

इसे भी पढ़ें: सिलचर के सभी बाढ़ प्रभावित लोगों तक अब भी प्रशासन को पहुंचना है, असम बाढ़ पर सीएम का बयान

शिरोमणि अकाली दल (अमृतसर) के अध्यक्ष और प्रत्याशी 77 वर्षीय सिमरनजीत सिंह मान को करीब 23 साल के बाद संगरूर लोकसभा सीट पर जीत मिली है। आधिकारिक आंकड़ों के मुताबिक, सिमरनजीत सिंह मान को 2,53,154 मत मिले जबकि गुरमेल सिंह को 2,47,332 मत मिले। कांग्रेस प्रत्याशी दलवीर सिंह गोल्डी, भाजपा प्रत्याशी केवल ढिल्लों और शिरोमणि अकाली दल (शिअद) प्रत्याशी कमलदीप कौर राजोआना क्रमश: तीसरे, चौथे और पांचवें स्थान पर रहे। चुनाव नतीजों के मुताबिक, गोल्डी को 79,668 मत, ढिल्लों को 66,298 मत और कौर को 44,428 मत मिले। पंजाब में सत्तारूढ़ आम आदमी पार्टी (आप) ने नतीजों के संकेत मिलते ही हार स्वीकार कर शिअद (अमृतसर) नेता को बधाई दे दी थी।

इसे भी पढ़ें: भाजपा ने सरकारी मशीनरी का दुरुपयोग किया, कोई अंतरराष्ट्रीय संस्था कराए चुनाव, रामपुर से सपा की हार पर बोले आजम खान

मीडिया को संबोधित करते हुए आप प्रवक्ता मलविंदर सिंह कांग ने कहा कि संगरूर लोकसभा उपचुनाव का नतीजा आ गया है। उन्होंने कहा, ‘‘हम संगरूर सीट के लोगों के जनादेश का सम्मान करते हैं। हम सिमरनजीत सिंह मान को उनकी जीत पर बधाई देते हैं।’’ मान की जीत के बाद शिअद (अमृतसर) समर्थकों ने संगरूर की सड़कों पर जश्न मनाया और लोगों को ‘लड्डू’ बांटे। कार और दोपहिया वाहनों पर सवार कई लोगों को अपने नेता के लिए नारेबाजी करते देखा गया। उल्लेखनीय है कि पंजाब विधानसभा के लिए इस साल के शुरू में हुए चुनाव में भगवंत मान विधायक चुने गए थे जिसके बाद उन्होंने लोकसभा की सदस्यता से इस्तीफा दे दिया था। इसलिए इस सीट पर उपचुनाव कराना आवश्यक हो गया था। संगरूर लोकसभा उपचुनाव के लिए मतों की गिनती रविवार को सुबह आठ बजे कड़ी सुरक्षा में शुरू हुई। यहां 23 जून को हुए मतदान में 16 प्रत्याशियों की किस्मत दांव पर थी। संगरूर लोकसभा उपचुनाव में केवल 45.30 प्रतिशत मतदाताओं ने अपने मताधिकार का उपयोग किया जबकि वर्ष 2019 के लोकसभा चुनाव में 72.44 प्रतिशत और वर्ष 2014 के आम चुनाव में 76.71 प्रतिशत मतदान हुआ था।

इसे भी पढ़ें: सिलचर के सभी बाढ़ प्रभावित लोगों तक अब भी प्रशासन को पहुंचना है, असम बाढ़ पर सीएम का बयान

संगरूर में कुल 15.69 लाख मतदाता हैं। उपचुनाव में कुल 7,08,448 वैध मत पड़े और 2,471 मतदाताओं ने नोटा (इनमें से कोई नहीं) दबाया। सिमरनजीत सिंह मान ने अपनी जीत को संगरूर के लोगों, दिवंगत अभिनेता कार्यकर्ता दीप सिद्धू और मारे गए पंजाबी गायक शुभदीप सिंह सिद्धू, जो सिद्धू मूसेवाला के नाम से जाने जाते थे, को समर्पित किया और कहा इन लोगों ने सिख समुदाय के लिए अपना बलिदान दिया। मान ने कहा, ‘‘इसका भारत की राजनीति पर असर होगा। कई लोग हंसते थे और कहते थे कि सिमरनजीत सिंह मान क्या करेगा। आज वे गलत साबित हुए हैं।’’ उन्होंने कहा, ‘‘हमारे पार्टी कार्यकर्ताओं ने कड़ी मेहनत की।’’ उन्होंने कहा, ‘‘मैं संगरूर के मतदाताओं का आभारी हूं जिन्होंने संसद में अपना प्रतिनिधि चुना। मैं किसानों, कृषि मजदूरों, कारोबारियों और अपने निर्वाचन क्षेत्र के प्रत्येक व्यक्ति की मुश्किलों को दूर करने के लिए कड़ी मेहनत करूंगा।’’

इसे भी पढ़ें: भाजपा ने सरकारी मशीनरी का दुरुपयोग किया, कोई अंतरराष्ट्रीय संस्था कराए चुनाव, रामपुर से सपा की हार पर बोले आजम खान

मान ने कहा कि वह संसद में लोगों के मुद्दों को उठाएंगे ताकि निर्वाचन क्षेत्र का पूर्ण विकास सुनिश्चित हो सके। इससे पहले सिमरनजीत सिंह मान और गुरमेल सिंह के बीच मतगणना के दौरान कांटे की टक्कर हुई लेकिन शिअद (अमृतसर) प्रत्याशी विजयी बढ़त बनाने में सफल रहे। उल्लेखनीय है कि आम आदमी पार्टी मार्च महीने में ‘‘बदलाव’’ के नारे के साथ पंजाब विधानसभा में ऐतिहासिक जीत दर्ज कर सत्ता में आई थी। मौजूदा समय में राज्य के मुख्यमंत्री भगवंत मान ने 2014 और 2019 में संगरूर सीट से जीत दर्ज की थी। लेकिन धुरी से विधायक और बाद में मुख्यमंत्री चुने जाने के बाद उन्होंने लोकसभा से इस्तीफा दे दिया। राज्य विधानसभा चुनाव में मिली शानदार जीत के बाद आप की संगरूर लोकसभा उपचुनाव में पहली प्रमुख चुनावी हार है। सिमरनजीत सिंह मान इससे पहले वर्ष 1989 में तरन-तारन से और 1999 में संगरूर से लोकसभा सदस्य रह चुके हैं।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़