केजरीवाल के आवास के बाहर तीनों निगमों के महापौरों का धरना, सत्येंद्र जैन ने की मुलाकात

Delhi Mayors
दिल्ली भाजपा के एक अधिकारी ने दावा किया कि मंत्री ने तीनों महापौरों को निगमों का बकाया कोष जल्द ही जारी करने का आश्वासन दिया है।

नयी दिल्ली। भाजपा शासित तीनों नगर निगमों के महापौरों ने सोमवार को दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के आवास के बाहर धरना देकर करोड़ों रुपये के कोष के मुद्दे पर उनसे मुलाकात की मांग की। महापौरों ने दावा किया कि यह कोष निगमों का आप सरकार पर बकाया है। तीनों महापौरों जयप्रकाश (उत्तरी दिल्ली), अनामिका (दक्षिणी दिल्ली) और निर्मल जैन (पूर्वी दिल्ली) ने संयुक्त रूप से दावा किया कि निगमों के दिल्ली सरकार पर कुल 13,000 करोड़ रुपये बकाया हैं। 

इसे भी पढ़ें: IIT में प्रवेश पाने वाले दिल्ली के सरकारी स्कूल के विद्यार्थी ‘रोल मॉडल’ बने: केजरीवाल 

उत्तरी दिल्ली के महापौर जय प्रकाश ने कहा कि वह और दो अन्य महापौर इस मुद्दे पर मुख्यमंत्री से मुलाकात की मांग करने के लिये सुबह करीब 11 बजे उनके आवास पर पहुंच गए थे। जयप्रकाश ने कहा कि तीनों महापौर सुबह से जमीन पर बैठे हैं और संविधान को कायम रखने की बात करने वाले दिल्ली के मुख्यमंत्री ने महापौर के संवैधानिक पद और तीन नेताओं का अपमान किया है, जो दिल्ली के प्रथम नागरिक हैं। भाजपा के तीनों नेता सुबह से धरने पर बैठे थे। इसके बाद दिल्ली के मंत्री सत्येंद्र जैन आए और उनसे मुलाकात की, जिसके बाद उन्होंने धरना खत्म किया। 

इसे भी पढ़ें: दिल्ली में फिलहाल विद्यालय नहीं खुल रहे हैं: अरविंद केजरीवाल 

दिल्ली भाजपा के एक अधिकारी ने दावा किया कि मंत्री ने तीनों महापौरों को निगमों का बकाया कोष जल्द ही जारी करने का आश्वासन दिया है। हालांकि जैन ने कहा कि उन्होंने मुख्यमंत्री के निर्देश पर महापौरों को मुलाकात के लिये बुलाया था लेकिन वे नहीं आए।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़